मामला पार्किंग का: यात्रियों ने किया भोपाल स्टेशन का रुख

  • रोजाना आना-जाना करने वाले यात्री हो रहे ज्यादा परेशान

नवभारत न्यूज भोपाल.

हबीबगंज स्टेशन पर पार्किग शुल्क के रुप में 5 गुना बढ़ोतरी से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. फरवरी के पहले सप्ताह में जब नई दरें लागू कीं तो यात्रियों और विपक्षी दलों ने उसका विरोध किया.

कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने पार्किंग पर चस्पा नई दरों की लिस्ट पर पुरानी दरों की सूची लगा दी थी. जिसके बाद प्रशासने ने दरों को कम भी किया. पर न्यूनतम छूट देकर पूरे मामले पर लीपापोती की गई. यह दरे यात्रीयों को रास नहीं आ रही है. पर नये शुल्कं का विरोध अब दब गया है.

इन नई दरों से परेशानियों का सामना उन यात्रियों को करना पड़ रहा है, जो कि राजधानी से रोजाना पढ़ाई या रोजगार के लिए आसपास के जिलों में जाते है. यहां से रोजाना विदिशा के सम्राट अशोक टेक्नोलॉजी इस्टीट्यूट जाने वाले छात्रों से जब बात की गई, तो उन्होंने बताया कि छात्र अब बढ़े पार्किंग शुल्क के कारण भोपाल स्टेशन से यात्रा करने लग गए हैं, जो कि रोजाना अपने वाहन को स्टेशन पार्किंग में खड़ा करके जाते हैं.

रोजाना रेल से यात्रा करने वाले रहवासियों के लिए रेल्वे ने पार्किंग शुल्क में छूट दी है. पर पुरानी किराये की दर की तुलना में वह भी काफी अधिक है. इसके लिए मासिक पास की व्यवस्था के जरिये राहत प्रशासन देगा.

पर मासिक पास के लिए दोपहिया वाहन चालकों को चार हजार रुपए और कार चालकों के लिए बारह हजार रुपए चुकाने होंगे. वहीं भोपाल स्टेशन की तुलना में हबीबगंज स्टेशन के पार्किंग शुल्क में 3 गुना अधिक है. यात्रियों का कहना है, कि जब एक ही शहर के दो स्टेशनों में पार्किग के शुल्क इतना अंतर है.अब ठेकेदारों के अघिक मुनाफे कमाने के चक्कर में यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

भोपाल स्टेशन की पार्किग दरों और हबीबगंज की दरों में अंतर

भोपाल स्टेशन पर पार्किग शुल्क के रुप में दो पहिया वाहन खड़े करने का शुल्के 4 घंटे के समयअंतराल के 10 रुपये देना होता है, वही 4 से 12 घंटे का पार्किग चार्ज यहां 20 रुपये है. 12 घंटे से 24 घंटे तक 30 रुपये चार्ज है, वहीं चार पहिया वाहन भोपाल स्टेशन की पार्किग में खड़े करने का दिनभर का शुल्क 120 रुपये है. हबीबगंज स्टेशन पर पार्किग शुल्क एक दिन का दोपहिया वाहन का शुल्क 175 रुपये और चार पहिया वाहन का दिनभर का 24 घंटे का शुल्क 460 रुपये है.

नई दरें आम आदमी को परेशान करने का कारण सिद्ध हो रही है. पर इन दरों में नाम मात्र की छूट के बाद विरोध का कम हो जाना समझ से परे है.
-गजेन्द्र मालवीय यात्री

मैं न्यू मार्केट में रहता हुं और विदिशा के सम्राट अशोक टेक्नोलॉजी इस्टीट्यूट में पढ़ाई करता हुं. हम 14 दोस्त डेली 8.30 बजे हबीबगंज स्टेशन से रेल से विदिशा जाते थे. पर जब से यहां पार्किग शुल्क बढ़ा है.तब से भोपाल स्टेशन से हम लोग जाने लगे हैं.
-भास्कर गौतम छात्र सम्राट अशोक टेक्नोलॉजी इस्टीट्यूट

 

Related Posts: