metroनई दिल्ली,  मेट्रो उसके कॉरिडोर के आसपास रहने वाले लोगों की सुविधा के लिए अब उन्हें यह भी बतायेगी कि उन्हें भवन निर्माण के लिए मेट्रो से नक्शा पास कराने की जरूरत है या नहीं.

दिल्ली डी एम आर सी कल से अपनी वेबसाइट पर एक लिंक शुरू करने जा रही है जिसमें दिल्ली मेट्रो के उस प्रभाव क्षेत्र को स्पष्ट रूप से दर्शाया जाएगा, जो क्षेत्र मेट्रो कॉरिडोर के आस पास स्थित है. इस प्रभाव क्षेत्र में भवन योजना की मंजूरी के लिए डीएमआरसी से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने की आवश्यकता होती है. नियमों के अनुसार दिल्ली मेट्रो के प्रभाव क्षेत्र में मेट्रो के दोनों ओर 11 मीटर का क्षेत्र आता है. इस क्षेत्र के अंदर किसी भवन को बनाने के लिए डीएमआरसी से मंजूरी लेने की जरूरत होती है.

दिल्ली मेट्रो की वेबसाइट पर उपलब्ध लिंक में तीसरे और चौथे चरण के लिए मेट्रो कॉरिडोर के साथ गूगल अर्थ प्लेटफॉर्म पर अंकित यह प्रभाव क्षेत्र दर्शाया जाएगा. इसकी सहायता से किसी व्यक्ति या नगर निगम निकाय को स्पष्ट रूप से पता लग सकेगा कि उन्हें डीएमआरसी से एनओसी लेने की आवश्यकता है या नहीं.
अभी दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क 213 किलोमीटर है जिसके एक वर्ष में बढ़कर 400 किलोमीटर होने की संभावना है.

Related Posts: