malyaनई दिल्ली,  शराब कारोबारी विजय माल्या ने उच्चतम न्यायालय में आज हलफनामा दायर करते हुए कहा कि बैंकों को विदेशों में मौजूद उनकी संपत्तियों की जानकारी हासिल करने का अधिकार नहीं है.

उच्चतम न्यायालय ने माल्या को 21 अप्रैल तक देश और विदेश में उनकी तथा उनके परिवार की कुल संपत्ति का ब्योरा देने के लिए कहा था. साथ ही यह भी कहा था कि वह बताएं कि अदालत में कब पेश होंगे. माल्या ने आज दायर किए हलफनामे में कहा कि प्रवासी भारतीय होने के कारण वह विदेश में अपनी संपत्ति का खुलासा करने के लिए बाध्य नहीं हैं. उनके तीन बच्चे और पत्नी भी अमेरिकी नागरिक हैं, तो उन्हें भी अपनी संपत्ति की जानकारी देने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने उच्चतम न्यायालय से 26 जून को सील बंद लिफाफे में अपनी संपत्ति की जानकारी दायर करने की अनुमति मांगी है. एक स्थानीय अदालत ने जीएमआर हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड की तरफ से माल्या के खिलाफ दायर चेक बाउंस मामले में उन्हें दोषी ठहराया है. हालांकि माल्या के अदालत में मौजूद न होने के कारण अभी सजा नहीं सुनाई गई.

Related Posts:

सज्जन कुमार थे टारगेट
संसद में हंगामा, इस्तीफों पर अड़ा विपक्ष
संसद की कैंटीन में सब्सिडी बंद, खाना महंगा
देश के प्रति मेरी प्रतिबद्धता को चुनौती नहीं दे सकते मोदी : सोनिया
विवादित मॉल गिरने से चार लोगो की मृत्यु, तीन घायल, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश
कर्फ्यू का दायरा घाटी के कुछ शहरों और पूरे श्रीनगर जिले में बढ़ाया गया