केंद्रीय मंत्री ने त्रिदिवसीय डोहेला महोत्सव का किया शुभारंभ

नवभारत न्यूज खुरई,

केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कहा कि खुरई के डोहेला महोत्सव ने प्रदेश ही नहीं बल्कि राजधानी दिल्ली तक अपनी पताका फहराई है। इस अवसर पर प्रख्यात गायिका पलक मुछाल ने अपनी टीम के साथ चार घण्टे तक फिल्मी गानों की रंगारंग प्रस्तुति दी।

खुरई में मकर संक्रांति पर तीन दिवसीय डोहेला महोत्सव का शुभारंभ करते हुए केन्द्रीय मंत्री श्री गेहलोत एवं गृह और परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने किया। श्री गेहलोत ने कहा कि मेला हमारी संस्कृति के प्रतीक हैं और ऐसे आयोजन में आनंद की अनुभूति होती है।

खुरई में अनुसूचित जाति कन्या छात्रावास के अलावा ओबीसी के लिए भी छात्रावास स्वीकृत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खुरई विधानसभा क्षेत्र के अनुसूचित जाति बाहुल्य ग्रामों में विकास हेतु पूर्व में 20-20 लाख रूपए दिए थे। अब प्रयास है कि 30 लाख रूपए और मिल जाएं।

स्वागत भाषण में श्री सिंह ने कहा कि खुरई से विधायक बनने से पहले डोहेला मंदिर और किला जीर्ण-शीर्ण हालत में था। अगर इसका संरक्षण नहीं होता तो आज यह उस स्वरूप में नहीं होता, जैसा आप-सब देख रहे हैं।

राज्य सरकार से डेढ़ करोड़ रूपए मंजूर कराकर इसका कायाकल्प किया गया है। डोहेला किले को अभी और सुंदर बनाना है। हमारा प्रयास है कि मकर संक्रांति डोहेला महोत्सव की पहचान राष्ट्रीय आयोजन के रूप में हो। मुंबई के लोग यहां फिल्मों की शूटिंग करने के लिए आयें।

टूरिज्म का बड़ा होटल बने। मंत्री श्री सिंह ने खुरई में बाबू जगजीवनराम कन्या छात्रावास खोलने, क्षेत्र के अनुसूचित जाति बाहुल्य ग्रामों को अधिक आर्थिक सहायता देने सहित अन्य मांगें केन्द्रीय मंत्री श्री गेहलोत के समक्ष प्रस्तुत कीं। मकर संक्रांति पर मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने पत्नी श्रीमती सरोज सिंह के साथ डोहेला मंदिर में पूजा अर्चना कर भगवान शिव का अभिषेक किया।