उड़ान की स्टारकास्ट ने साझा किये अपने अनुभव

भोपाल,

हाल मेें अपने 1000 एपिसोड पार कर चुके, उड़ान टीवी सीरियल की कहानी के बारे में बात करने के लिए और उनके अनुभव प्रशंसकों के साथ शेयर करने के लिए विजयेंद्र कुमेरिया (सूरज) और विधी पंड्या (इमली) भोपाल आये.

अपना अनुभव बताते हुए विजयेंद्र कुमेरिया ने कहा, मैं एक्टर नहीं बनना चाहता था, मैं सीए बनना चाहता था, लेकिन किस्मत को जो मंजूर था वो हुआ. उन्होंने कहा कि भोपाल हरवक्त सज्जनतापूर्ण रहा है और यहाँ आज आने का मतलब है मुंबई के वेदर से एक स्वागतशील बदल पाना.

शो के बारे में बताते हुए कहा कि मैं बदला लेने वाले नकारात्मक लडके से हक के लिए चलने वाली पत्नी की लड़ाई में उसका साथ देने वाले आदमी सूरज का यह पात्र बदलकर उत्क्रांत हो गया है, मानसिक बंधुआ के विरूध्द लडऩे में चकोर को मदद करके सूरज न ही उसकी ताकत बन गया है बल्कि उसे प्रेरित भी करता है.

सूरज का पात्र साकार करने में सक्षम रहने के लिए मैं भाग्यशाली हूँ. एक प्रतिस्पर्धी के सूक्ष्म भेद जानने के लिए और एक्टिंग के लिए आवश्यक होने वाला लचिलापन पाने के लिए मैं उडान को धन्यवाद देता हूँ.

इमली फेम भी हुईं शामिल

शो के बारे में बताते हुए, विधी पंड्या ने कहा, इमली का किरदार करना बहुत ही चुनौतीपूर्ण था, मैं एक भोलीभाली लडक़ी की भूमिका साकार कर रही थी और उसमें एक रोमांचकारी बदलाव आ गया जिसमें नकारात्मक हेतू रखने वाली बन गयी और उसके कृत्यों से उसकी खुद की बहन के जीवन में उथल-पुथल आ गयी, निजी फ्रंंट पर मेरे लिए उडान ने मुझे न सिर्फ पहचान और प्रसिध्दी दी है बल्कि उसने मुझे ज्य़ादा महत्वपूर्ण बुनियाद दी है. और उसके लिए मैं उनकी शुक्रगुजार हूँ, भोपाल के खाने के बारे में मैंने बहुत सुना है, और मैं यहाँ की प्रसिध्द पोहा-जलेबी का स्वाद जरूर लूँगी.

Related Posts: