messiइस्ट रदरफोर्ड,   विश्व के महानतम फुटबालरों में शुमार अर्जेंटीना के स्टार खिलाड़ी लियोनल मैसी ने कोपा अमेरिका कप के फाइनल में चिली के हाथों मिली हार के बाद अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास लेने का फैसला लिया है।

अर्जेटीना को कोपा अमेरिका कप फाइनल में चिली के खिलाफ पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से पराजय का सामना करना पड़ा। फाइनल में हार के तुरंत बाद मैसी ने सनसनीखेज अंदाज में एक इंटरव्यू में घोषणा कर दी कि वह अब अर्जेंटीना टीम का प्रतिनिधित्व नहीं करेंगे। हालांकि बार्सिलोना क्लब की तरफ से खेलना जारी रखेंगे।

29 वर्षीय मैसी ने संन्यास की घोषणा के तीन दिन पहले अर्जेंटीना फुटबॉल महासंघ (एएफए) के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की थी। कोपा अमेरिका फाइनल की हार के बाद दुनिया के इस सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी ने कहा “मेरे लिए राष्ट्रीय टीम का सफर पूरा हो गया। मैं जो कर सकता हूं वो मैंने किया। मैं चार फाइनल में पहुंचा और यह दुखद है कि हम चैम्पियन नहीं बन पाए। यह मेरे और मेरी टीम के लिए बहुत ही कठिन क्षण है और यह कहना मुश्किल है लेकिन अर्जेंटीना की टीम के साथ मेरा सफर अब पूरा हो गया।”

गत वर्ष की तरह से इस वर्ष भी खिताबी राउंड में पहुंची चिली और अर्जेंटीना की टीमों के बीच कांटे की टक्कर हुई। निर्धारित 90 मिनट तक कोई भी टीम गोल नहीं कर सकी और इसके बाद 30 मिनट के अति‍रिक्त समय के बाद भी मुकाबला गोलरहित बराबरी पर छूटा। जिसके बाद विजेता का फैसला पेनल्टी शूटआउट के जरिए हुआ।

82 हजार दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में हुए शूटआउट में स्टार खिलाड़ी मैसी चूक गए। उन्होंने अर्जेंटीना की तरफ से पहली पेनल्टी ली लेकिन वे गेंद को पोस्ट से बाहर मार बैठे। इसके बाद मैसी बेहद ही निराश नजर आए। गोल नहीं कर पाने की कसक मैसी के चेहरे पर साफ दिख रही थी और चूकने के बाद उन्होंने हताशा में अपने चेहरे को जर्सी से ढक लिया।

Related Posts: