obama_modiन्यूयॉर्क,  भारत और अमेरिका ने रक्षा ,मज़हबी कट्टरपंथ, आतंकवाद से मुकाबला ,जलवायु परिवर्तन आदि के क्षेत्रों आपसी सहयोग बढ़ाने का आज संकल्प जताया. भारत ने द्विपक्षीय निवेश करार करने की इच्छा का भी इज़हार किया. अमेरिका ने परमाणु निर्यात नियंत्रण व्यवस्थाओं में भारत की सदस्यता समर्थन करने का वादा किया तथा भारत ने संयुक्त राष्ट्र स्थायी सदस्यता के दावे के समर्थन के लिये अमेरिका के प्रति आभार व्यक्त किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आज यहाँ द्विपक्षीय बैठक में ये संकल्प व्यक्त किये. बैठक के बाद श्री मोदी ने अपने वक्तव्य में कहा कि वह और श्री ओबामा जलवायु परिवर्तन को लेकर समान विचार रखते हैं. उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका की साझेदारी रणनीतिक एवं सुरक्षा संबंधी व्यापक मुद्दों के संबंध में है इसलिये बैठक में आतंकवाद से मुकाबले, साइबर सुरक्षा और प्रशिक्षण पर भी बात हुई.

उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने स्वच्छ ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता पर भी चर्चा की और माना कि स्वच्छ ऊर्जा की तकनीक सभी देशों को सुलभ कराने के वास्ते एक ग्लोबल पब्लिक पार्टनरशिप होनी चाहिये. उन्होंने कहा कि भारत अमेरिका के साथ द्विपक्षीय निवेश करार शीघ्र ही करने का इच्छुक है.

Related Posts: