rahulनयी दिल्ली,  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सहिष्णुता के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लंदन में दिये गये बयान के लिए उन पर निशाना साधते हुए आज पूछा कि वह देश में चुप्पी क्यों साधे रहते हैं और बाहर जाकर ही उन्हें सहिष्णुता की बात कैसे याद आती है ।

श्री गांधी ने आज यहां पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जयंती पर कांग्रेस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा कि श्री मोदी ने लंदन में भाषण में कहा कि भारत सहिष्णु राष्ट्र है लेकिन यह अजीब बात है कि देश में रहते हुए वह इस तरह की बातें नहीं कहते। ब्रिटेन की यात्रा पर गये श्री मोदी ने कल वेम्बले स्टेडियम में भारतवंशियों को संबोधित करते हुए कहा था कि विविधता में एकता भारत की ताकत है और इसी ताकत के बल पर देश विकास के पथ पर अग्रसर हो रहा है।

उन्होंने कहा था कि यह विविधता हमारी विशेषता है, हमारी आन, बान, शान है और हमारी शक्ति भी है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर देश में अपनी विचारधारा थोपने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि वह पूरे देश को एक ही रंग में रंगना चाहता है जबकि कांग्रेस पार्टी वास्तव में विविधता में एकता में विश्वास रखती है। कांग्रेस सबको साथ लेकर चलना चाहती है जबकि संघ चाहता है कि सब उसकी विचारधारा का ही अनुसरण करें।

श्री गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री और उनकी सरकार की संसद में रुचि नहीं है और वह विपक्ष के सवालों पर ध्यान नहीं देते । श्री मोदी के अच्छे दिन के वादे पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि यदि प्रधानमंत्री के पास सभी सवालों के जवाब होते तो अच्छे दिन भी आ गये होते ।

Related Posts: