नयी दिल्ली,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत आसियान मैत्री रजत जयंती शिखर सम्मेलन में भाग लेने आये थाईलैंड और सिंगापुर के प्रधानमंत्रियों तथा ब्रुनेई के सुल्तान के साथ आज अलग अलग द्विपक्षीय बैठकों में साझा महत्व के मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने के बारे में सार्थक चर्चा की।हैदराबाद हाउस में सबसे पहले श्री मोदी की मुलाकात थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओ चा से हुई।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच आर्थिक एवं वाणिज्यिक आदान प्रदान, कनेक्टिविटी, रक्षा एवं सुरक्षा, सांस्कृतिक सहयोग तथा जनता के बीच आदान प्रदान बढ़ाने को लेकर रचनात्मक बातचीत हुई।

श्री कुमार ने कहा कि सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग के साथ श्री मोदी की आर्थिक एवं कारोबारी संबंधों, वित्तीय प्रौद्योगिकी, पर्यटन, कनेक्टिविटी और स्मार्ट सिटी आदि के क्षेत्र में सहयोग पर सार्थक चर्चा हुई है।

श्री मोदी ने आसियान की अध्यक्षता कर रहे श्री ली सीन लूंग के आज एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित एक लेख की सराहना की जिसमें आसियान क्षेत्र के साथ भारत के दो हजार साल से अधिक पुराने रिश्तों को वर्तमान परिप्रेक्ष्य में देखा गया है।

प्रवक्ता के अनुसार इसके बाद ब्रुनेई के सुल्तान हसनल बोलाकिया के साथ रक्षा एवं सुरक्षा, ऊर्जा, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी, शिक्षा, स्वास्थ्य और अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग पर सकारात्मक विचार विमर्श हुआ। इससे पहले कल श्री मोदी ने फिलीपीन्स, म्यांमार और विएतनाम के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकें कीं थीं।

Related Posts: