modi2नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां एक उच्चस्तरीय बैठक में आंध्र प्रदेश में सूखे और पेयजल की कमी की स्थिति की आज समीक्षा की और माइक्रो सिंचाई के लिए राज्य के प्रयासों की सराहना करते हुए उसके सहित महाराष्ट्र और गुजरात में ड्रिप सिंचाई के आर्थिक प्रभाव का व्यापक अध्ययन करने के लिए कार्यबल गठित करने का निर्देश दिया।

बैठक में मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने बताया कि राज्य सरकार ने सूखे के असर को कम करने के लिए चेक बांधों का निर्माण और सचल स्प्रिंकलर इकाइयां स्थापित करने के साथ ही लिफ्ट सिंचाई योजनाएं फिर शुरू की हैं।

उन्होंने माइक्रो सिंचाई में राज्य की प्रगति का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य ने वर्ष 2022 तक 20 लाख हेक्टेयर क्षेत्र मेंं माइक्रो सिंचाई का लक्ष्य निर्धारित किया है।

Related Posts: