modi1नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज रेलवे और सड़क दो प्रमुख ढांचागत क्षेत्रों की परियोजनाओं में प्रगति की समीक्षा की।

समीक्षा में यह बात सामने आई कि मौजूदा वित्त वर्ष में रेलवे के क्षेत्र में 93000 करोड़ रुपये से अधिक का भारी भरकम पूंजी निवेश हुआ है जो अब तक का सर्वाधिक होने के साथ-साथ पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 65 फीसदी से अधिक है। इस दौरान 1780 किलोमीटर लंबी रेल लाइन पर परिचालन शुरू हुआ और 1730 किलोमीटर का विद्युतीकरण किया गया। कामकाज की दृष्टि से रेलवे के इतिहास में ये अब तक के सबसे अच्छे आंकडे हैं।

प्रधानमंत्री ने रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास में तेजी की जरूरत पर बल दिया और रेलवे से अपने लक्ष्यों को और बढाने को कहा। उन्होंने रेलवे को उन्नत बनाने तथा इसकी ढांचागत सुविधाओं के अलग-अलग इस्तेमाल की जरूरत भी बतायी। विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में रेलवे की सुविधाओं के कौशल विकास के लिए इस्तेमाल की बात दोहराते हुए उन्होंने कहा कि इससे रेलवे को किराये से इतर राजस्व की प्राप्ति हो सकती है।

सड़क क्षेत्र में प्रधानमंत्री को बताया गया कि मौजूदा वित्त वर्ष में 6000 किलोमीटर राजमार्ग का निर्माण किया गया और दस हजार किलोमीटर राजमार्ग के लिए अनुबंध किये गये। उन्होंने देशभर में सड़क विकास के विभिन्न माॅडलों के अध्ययन की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि इनमें से सबसे अच्छे माॅडल काे अपनाया जाना चाहिए जिससे कि इस क्षेत्र में और अधिक निजी निवेश लाया जा सके।

श्री मोदी ने पथ कर वसूलने के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी को जरूरी बताया जिससे कि महत्वपूर्ण राजमार्गों को जाम से निजात दिलायी जा सके।

Related Posts: