modiविक्टोरिया (सेशल्स), 11 मार्च. भारत ने सेशेल्स के साथ रणनीतिक भागीदारी को मजबूत करते हुये सुरक्षा और नौवहन क्षेत्र में भागीदारी बढ़ाने के लिये आज चार समझौतों पर हस्ताक्षर किये. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन देशों के यात्रा पर कल अपने पहले पड़ाव पर यहां पहुंचे. उन्होंने आज यहां सेशल्स के राष्ट्रपति जेम्स एलेक्स माइकल के साथ बातचीत की और कहा सेशेल्स हमारे हिन्द महासागर के पड़ोस में अहम भागीदार है.

मोदी पिछले 34 साल में सेशेल्स की यात्रा करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं. उन्होंने कहा, यह छोटी यात्रा है लेकिन यह यात्रा काफी सफल रही है. इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि हिन्द महासागर क्षेत्र में सेशेल्स मेरा पहला पड़ाव बना है. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने वर्ष 1981 में इस देश की यात्रा की थी.

सेशेल्स के राष्ट्रपति के साथ मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में मोदी ने हिन्द महासागर स्थित इस द्वीपीय देश को भारत की ओर से दूसरा ड्रोनियर विमान देने की घोषणा की. मोदी ने इस अवसर पर तटीय निगरानी राडार परियोजना की भी शुरआत की. उन्होंने इस परियोजना को दोनों देशों के बीच सहयोग का एक ओर प्रतीक बताया. उन्होंने सेशेल्स को विश्वसनीय दोस्त और रणनीतिक भागीदार बताते हुये कहा, हमारी सुरक्षा भागीदारी मजबूत है. इससे हमें क्षेत्र में नौवहन सुरक्षा को आधुनिक बनाने की हमारी साझा जिम्मेदारी को पूरा करने में मदद मिली है.

मोदी ने कहा, सेशेल्स की सुरक्षा क्षमताओं को विकसित करने में भागीदार बनना हमारे लिये सौभाग्य की बात है. उन्होंने कहा कि इन कदमों से सेशेल्स को अपने सुन्दर द्वीप और उसके आसपास फैले समुद्री क्षेत्र को सुरक्षित रखने में मदद मिलेगी. प्रधानमंत्री ने कहा, सेशेल्स भी हिन्द महासागर क्षेत्र को सुरक्षित रखने में अपना अहम योगदान देना जारी रखेगा.

Related Posts: