modiमुजफ्फरपुर/गोपालगंज,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘बाहरी’ होने के नीतीश कुमार के ताने का जवाब देते हुए शुक्रवार को उनसे पूछा कि क्या वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी ‘बाहरीÓ कहेंगे। उन्होंने कहा कि वह किसी और देश के नहीं बल्कि भारत के प्रधानमंत्री हैं। लालू प्रसाद के गृह जिले गोपालगंज में महागठबंधन को निशाने पर लेते हुए उन्होंने नीतीश कुमार से सवाल किया कि क्या वह ‘जंगलराज’ के पुराने दिनों को वापस लाना चाहते हैं।

साथ ही दलितों, पिछड़ों और अति पिछड़ों के आरक्षण कोटा में से पांच प्रतिशत एक समुदाय को देने की साजिश संबंधी अपने आरोप को दोहरा कर दावा किया कि खुद नीतीश कुमार ने 2005 में संसद में मुसलमानों के लिए ‘सब कोटा’ की व्यवस्था करने की वकालत की थी। उन्होंने नीतीश कुमार के पुराने दिन लौटाने के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि नीतीश को कुर्सी के लिए पुराने दिन भले चाहिए, लेकिन बिहार की जनता उन पुराने दिनों को नहीं चाहती, जिसमें जंगलराज था।

मोदी गोपालगंज के दानापुर में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।  उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। लालू पर परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि लालू प्रसाद भ्रष्टाचार मामले में जेल जाने वाले हैं, यही कारण है कि वह अब अपने बेटों को तैयार कर रहे हैं। मोदी ने नीतीश पर बिहारियों का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नीतीश अब कहते हैं कि मोदी की रैली में लोगों को पैसा देकर लाया जा रहा है.

Related Posts: