modiनई दिल्ली,  लोकसभा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के पीएम नरेंद्र मोदी पर अपने वरिष्ठ मंत्रियों से सलाह न लेने के आरोप के बाद सरकार के तीनों वरिष्ठ मंत्री एक-एक कर पीएम के बचाव में उतर आए.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सामने आकर राहुल के इन दावों को निराधार करार दिया. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तो एक ब्लॉग के जरिए राहुल की समझदारी पर ही सवाल खड़े कर दिए. वहीं, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राहुल के बयान को आधारहीन बताते हुए कहा कि लाहौर जाने से पहले पीएम मोदी ने उनसे बात की थी. सुषमा ने कहा कि पीएम को उन्होंने ही लाहौर जाने की सलाह दी थी.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लोकसभा में नगा शांति समझौते पर राहुल गांधी का बयान पूरी तरह झूठा और निराधार है. उन्होंने नगा शांति प्रक्रिया पर प्रधानमंत्री के साथ कई दौर की बातचीत की. वह सदन को गुमराह करने की राहुल गांधी की इस कोशिश की कड़ी निंदा करते हैं.

जेटली ने राहुल पर तंज कसते हुए कहा कि जब कोई युवा अवस्था से प्रौढ़ता की ओर बढ़ता है, तो उससे परिपक्वता की अपेक्षा की जाती है. लेकिन वह जितना ज्यादा राहुल गांधी को सुनते हैं, उन्हें उतनी ही हैरानी होती है कि आखिर उन्हें कितनी जानकारी है और आखिर वह कब जानेंगे.

Related Posts:

पदक के लिए लगेगा निशाना, चलेगा चप्पू और रैकेट
विस्थापित कश्मीरी पंडितों का दिल्ली में प्रदर्शन
कटियार ने चेताया: तो ज्वालामुखी बनेंगे रामभक्त
आईएस ने ली नीस हमले की जिम्मेदारी, फ्रांस ने किया तीन को गिरफ्तार
बीएचयू में बवाल-आगजनी से तनाव, विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस तैनात
प्रधानमंत्री की 90 वर्षीय मां ने भी कतार में लग कर बदले पुराने नोट