नयी दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श किया, इस दौरान दोनों देशों के बीच आर्थिक साझेदारी बढ़ाने के लिये एक करार पर हस्ताक्षर किये गये।

श्री मोदी ने श्रीलंका के प्रधानमंत्री के साथ तमिल मछुआरों के मुद्दे पर भी चर्चा की और आग्रह किया कि श्रीलंका की नौसेना तमिलनाडु के मछुआरों के विरुद्ध बल प्रयोग से परहेज करे।

श्री मोदी ने हैदराबाद हाउस में इस बैठक के बाद ट्वीट किया कि उन्होंने श्री विक्रमसिंघे के साथ भारत श्रीलंका संबंधों को मज़बूत करने के उपायों पर व्यापक विचार-विमर्श किया जिससे दोनों देशों के नागरिकों को लाभ हो। श्री विक्रमसिंघे की यह यात्रा श्री मोदी की श्रीलंका यात्रा से कुछ सप्ताह पहले हुई है। श्री मोदी 10 मई को बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर श्रीलंका की दूसरी आधिकारिक यात्रा पर कोलंबो जायेंगे।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार भारतीय पक्ष ने स्थिर, शांतिपूर्ण एवं समृद्ध श्रीलंका के वहां की सरकार के विज़न की सराहना करते हुए इस दिशा में भारत की ओर से सतत सहयोग को लेकर प्रतिबद्धता दोहरायी। दाेनों नेताओं ने भावी आर्थिक परियोजनाओं में सहयोग के करार पर दस्तखत किये जाने का स्वागत किया। दोनों पक्षों ने परस्पर लाभ के एजेंडे को शीघ्रातिशीघ्र क्रियान्वित करने के लिये भी प्रतिबद्धता व्यक्त की।

उन्होंने आर्थिक एवं प्रौद्योगिकी सहयोग समझौते पर जारी बातचीत शीघ्र पूरी होने की भी उम्मीद जतायी। सूत्रों ने बताया कि भारतीय नेतृत्व ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के सत्र में श्रीलंका में मानवाधिकार, जवाबदेही एवं सुलह की प्रक्रिया को बढ़ावा देने के प्रस्ताव को श्रीलंका सरकार द्वारा सह प्रायोजित करने की सराहना की और उम्मीद जतायी कि मेल-मिलाप को लेकर सिफारिशें तय समयसीमा में लागू कर दी जायेंगी।

Related Posts: