05armyनई दिल्ली, 9 जून. मणिपुर में हाल में सेना पर हुए हमले को लेकर भारतीय सेना ने मंगलवार को म्यांमार की सीमा में घुसकर जवाबी कार्रवाई को अंजाम दिया है.
मणिपुर हमले को लेकर भारतीय सेना के एक प्रेस कांफ्रेंस में आज जानकारी दी गई कि म्यांमार में आज सेना ने दो जगहों पर कार्रवाई को अंजाम दिया गया. मणिपुर में सेना पर हमला करने वालों को मार गिराया है. म्यांमार ने भारत के इस ऑपरेशन में सहयोग दिया. हमने उग्रवादियों पर बड़ी कार्रवाई की. सेना के प्रवक्ता ने कहा कि आगे हमले हुए तो भी उचित कार्रवाई की जाएगी. उग्रवादी और हमलों की फिराक में थे.

सेना की ओर से बताया गया कि हमने चार एनकाउंटर किए. म्यांमार में सेना ने दो जगह पर कार्रवाई की. सेना ने कहा कि हमने उग्रवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है. हम म्यांमार की सेना के साथ मिलकर काम करेंगे. सेना ने कहा कि किसी तरह हमले या साजिश का माकूल जवाब दिया जाएगा. बता दें कि मणिपुर में सेना पर हमले के बाद उग्रवादी म्यांमार की तरफ भागे थे. सेना ने पहली बार म्यांमार में जाकर ऑपरेशन को अंजाम दिया है. इस घटना को हाल के समय में सेना पर सबसे भीषण हमला माना गया. घटना को भारत सरकार के खिलाफ युद्ध करने के तौर पर लिया गया और समझा जाता है कि इसे नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड (खापलांग) के हथियारबंद उग्रवादियों ने अंजाम दिया जो भारत के पूर्वोत्तर इलाके और म्यामां की सीमा के नजदीक सक्रिय हैं. सेना के अनुसार, समझा जाता है कि षड्यंत्र को एनएससीएन (के) के तथाकथित अध्यक्ष खापलांग पांगमी, खुगालु मोलाटोनू और अलेजो चाकसांग के नेतृत्व में रचा गया, जिसमें एनएसएसीएन खापलांग के वरिष्ठ सदस्य एवं इससे जुड़े हुए अन्य संगठनों भी लिप्त हैं.

Related Posts: