shivrajभोपाल,  मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान ने ङ्क्षसगापुर में मिले फेलोशिप सम्मान को मध्यप्रदेश की जनता को समर्पित किया है. उन्होंने कहा कि उनकी सिंगापुर यात्रा से मध्यप्रदेश को लाभ मिलेगा.

सिंगापुर यात्रा से लौटने के बाद आज यहां विमानतल पर पत्रकारों से चर्चा करते हुये मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वे यह फेलोशिप उन्हें म.प्र. की उच्च विकास दर कृषि ङ्क्षसचाई, महिला सशक्तिकरण, गरीब वर्ग कल्याण के लिये किये गये कामों के लिये दिया गया है.

उन्होंने कहा कि वे यह फेलोशिप प्राप्त करने वाले भारत के चौथे व्यक्ति हैं. ङ्क्षसगापुर में शिवराज को नहीं मध्यप्रदेश को जो रिस्पांस मिला वह दुर्लभ था. चौहान ने बताया कि इस यात्रा के दौरान उनकी ङ्क्षसगापुर के प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, उद्योग-व्यापार मंत्री से चर्चा हुई. उन लोगों ने जानना चाहा कि म.प्र. ने इतनी उपलब्धियां कैसे हासिल की हैं और म.प्र. के आगे विकास का रोड मैप क्या है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने सिंगापुर में व्याख्यान दिया, जो म.प्र. का समावेशी विकास से संबंधित था. इस यात्रा में 200 कम्पनियों के अधिकारियों, प्रतिनिधियों ने उनसे मुलाकात की. मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री फसल योजना लागू करने पर प्रधानमंत्री का आभार माना है.

चौहान ने बताया कि सिंगापुर के प्रधानमंत्री से चर्चा के पश्चात्ï हमने पांच सेक्टर तैयार किये हैं, जिनमें फूड प्रोसेङ्क्षसग, रिन्यूएबल एनर्जी, अर्बन प्लानिंग डह्लïपमेंट, स्किल डह्वïलमेंट एवं आईटी सेक्टर शामिल हैं. इनमें से चार पर एमओयू साइन हुये हैं. उन्होंने इस यात्रा को सकारात्मक बताते हुये कहा कि दोनों देशों के बीच एक स्थाई संबंध का निर्माण होगा, जिसका लाभ म.प्र. को भी निश्चित तौर पर मिलेगा.