Yemenदुबई, 2 जुलाई. संयुक्त राष्ट्र ने युद्ध ग्रस्त यमन में आम जनता की तबाही और आवश्यक वस्तुओं की बेहद कमी को देखते हुए इस देश में उच्च स्तरीय मानवीय आपात स्थिति की घोषणा कर दी है.इसके साथ ही आशा व्यक्त की है कि दोनों पक्ष कुछ समय के लिए लडाई बंद करेंगे ताकि पीडित लोगों तक राहत समाग्री पहुंचायी जा सके.

इस देश के दूसरे बड़े शहर अदन के रिहायशी इलाके में कल विद्रोहियों के हमले में 30 व्यक्ति मारे गये थे. इस बीच सरकार समर्थक सैनिकों ने मध्यवर्ती तीज शहर में जेल से भाग 1200 कैदियों की तलाशी शुरू कर दी. इनमें अल कायदा के सदस्य भी शामिल हैं. इन्हें पीछे हट रहे विद्रोही सैनिक जेल से छुड़ा ले गये.अदन तथा तीज दोनों शहरों में निर्वासित राष्ट्रपति अब्द रब्बू मंसूर हादी के प्रति बफादार सैनिकों और विद्रोही सैनिकों के बीच घमासान लड़ाई चल रही है.

सूत्रों के अनुसार सरकार समर्थक सैनिकों की मदद सऊदी अरब तथा उसके सहयोगी देश अपने हवाई हमलों से कर रहे हैं. हाउती तथा उसके समर्थक सैनिकों ने अदन के सरकार नियंत्रित अल मंसूरा जिले पर 15 राकेट दागे. दो रॉकेट बुधवार को तड़के दागे गये. बाद में रॉकेटों के हमले में मारे गये लोगों का शव ले जाते समय भी रॉकेट दागे गये . शहर के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख ने बताया कि राकेटों के हमलों में 31 व्यक्ति मारे गये और 100 से अधिक घायल हो गये . उधर सऊदी गठबंधन वाले देशों के विमानों ने दरसाद तथा खोर मकसद में कल रात हमले किए. संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने रमजान शुरु होने से पहले दो सप्ताह के लिए लड़ाई बंद करने की अपील की थी. संयुक्त राष्ट्र के प्रतिनिधि ने कल रियाद में यमन की निर्वासित सरकार के प्रतिनिधियों से बात की .

Related Posts: