सभी जोन ने रेलवे के अत्याधुनिक मॉडल पेश कर दी जानकारी

भोपाल,

रेलवे ने अपना 63वाँ राष्ट्रीय समारोह का आयोजन भोपाल में किया, जिसमें तीन दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन भोपाल हॉट में किया गया. जिसमें रेलवे के सभी जोन ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया.

व रेलवे के आगामी योजनाओं व रेलवे व्दारा संजोये गये स्वर्णिम इतिहास के बारे में जनता को बहुत ही शानदार तरीके से बताया गया. वही भोपाल रेल विकास निगम के धीरज ने बताया कि यहां पर दर्शकों के लिए 360 डिग्री व्यू की व्यवस्था की गई है, जिसके माध्यम से वो नर्मदा रेलवे ब्रिज को देख सकते है. और जब आप देखते है तो आपको ऐसा लगेेगा कि मानो आप वही खड़े होकर देख रहे है.

वही जयपुर से आये योगेश ने रेलवे की एलएचएस सिस्टम के बारे बताया कि इसकी सहायता से बिना रुकावट कुछ ही घंटों में रेलवे में पटरी के नीचे से ट्रार्नल बन जायेगी, व जाम से निजात पाया जा सकेगा.

प्रदर्शनी में दक्षिण मध्य रेलवे के सी.एम.ई एच. विजय कुमार ने अपने मॉडल के बारे में बताया कि रेलवे में आये दिन मानव रहित क्रासिंग को हादसे को रोकने के लिए एक ऐसी तकनीक विकसित की जिसकी सहायता से क्रासिंग से कुछ किमी पहले ही एक सेंसर के माध्यम से क्रासिंग में खड़े व्यक्ति को लाईट व बजर के माध्यम से पहले पता चल जायेगा कि गाड़ी आ रही है. वही चेन्नई से आये उदय कुमार ने रेलवे में शामिल होने वाले डिब्बों की जानकारी दी.

पहले मिल जाएगी पटरी की खामी

लखनऊ से आये ए,के पाण्डेय ने बताया कि यह डिवाइस ट्रैक को मेजर कर उसकी रिपोर्ट प्रिंट करके देगा, जिसकी सहायता से ट्रैक की खामियों को समय रहते ठीक किया जा सकेगा. जिससे कोई अप्रिय घटना न हो जाये.

दिखी लोगों में उत्सुकता

राजेश कुशवाहा ने बताया कि लोग इतिहास को लेकर खासी दिलचस्पी दिखा रहे है, हमनें सेल्फी पांईट की व्यवस्था कि है, जहां आप ऐताहासिक चीजों के साथ सेल्फी ले सकते है.

Related Posts: