70वां आलमी तब्लीगी इज्तिमा संपन्न, दुआ के लिए उठे लाखों हाथ

  • मोबाइलों से दूर रहें दीनदार

नवभारत न्यूज भोपाल,

दुनिया में इस्लाम के दूसरे सबसे बड़े जलसे आलमी तब्लीगी इज्तिमा का दुआ के साथ समापन हो गया.
इस मौके पर मरकज से आये मौलाना साअद साहब ने दुआ करतेे हुये कहा या अल्लाह दुनिया में दीन की हवा चला, लोगों को नेक रास्ते पर लगा दे और हम सभी को गुनाहों के समुंदर से बाहर निकाल, इस पर करीब 15 लाख लोगों ने हाथ उठा कर कहा ‘आमीन’.

दुआ से पहले मौलाना साहब ने तकरीर की. उन्होंने कहा कि मोबाइल फोन आज की जरूरत बन गया है. लोगों का कहना है कि यह अच्छा उपकरण है, लेकिन सच्चाई यह है कि महज 6 फीसद उपयोग ही इंसानियत के लिये हो रहा है, जबकि 94 फीसद उपयोग फरेब व मक्कारी भरा है.

दीनदार को चाहिये कि वह इससे दूर रहे. इसे तोड़कर फेंक दो या आग में झोंक दो. साअद साहब ने फरमाया कि नई नस्ल बुजुर्गों की इज्जत करना सीखे. बुजुर्ग किसी भी कौम का हो उसकी इज्जत करें.

उन्होंने कहा कि जो जमात यहां से दीन का पैगाम लेकर जा रही है एवं उन्हें रेल में सफर करना है, तो हम मुसाफिरों के साथ अच्छा बर्ताव करें. उन्होंने नसीहत दी कि दीनदार किसी भी व्यक्ति को तकलीफ नहीं पहुंचाता, दिल में यकीन पुख्ता करें और नेक आमाल पर कायम रहें, इंसानियत का पैगाम देकर सभी के हमदर्द बनें.

मौलाना साअद साहब ने कहा कि मांगों अल्लाह से तो लाखों हाथ दुआ के लिए उठ गये. उन्होंने सबसे पहले विश्व शांति, अमन, भाईचारे के लिये दुआ की.

उन्होंने कहा कि या अल्लाह हमारे मुल्क के खेत, खलिहानों को अपनी रेहमतों व बरकतों से नवाज दे, जो बीमार हैं, उनको सिफा अता फरमा दे, जो बेरोजगार हैं उनको जाइज काम दे. इसी के साथ ही लोगों ने उनके हर अल्फाज पर ‘आमीन’ कहा.

जहां जगह मिली वहीं मांगी दुआ

70वें आलमी तब्लीगी इज्तिमा में दुआ के मौके पर इतनी भीड़ उमड़ी कि 100 एकड़ का स्थान भी कम पड़ गया, जिसे जहां जगह मिली, वह वहीं बैठकर दुआ मांगने लगा. खेत, सड़क यहां तक कि पगडंडियां भी इज्तिमाइयों से भरी पड़ी थीं. कांग्रेस नेता पी.सी. शर्मा एवं गुड्ïडू चौहान ने इस्लाम नगर के बंद मार्ग से भी इज्तिमाइयों को बाहर जाने का रास्ता दिलाया.

मुसाफा कर जमातों ने ली चिल्लों की विदाई

इज्तिमागाह पर दुआ के बाद जमातों ने उलेमाए-दीन से मुसाफा कर चिल्ला लिया और अपने मकसद को पूरा करने चल दिये. दीन की रोशनी आम लोगों तक ले जाने के लिये 40 दिन का चिल्ला कई जमातों ने लिया.

स्टेशन पर उमड़ा जन सैलाब

इज्तिमा के समापन के बाद सोमवार की शाम स्टेशन पर यात्रियों का इतना दबाव बढ़ गया कि व्यवस्थायें चरमरा गईं. शाम 7 बजे के आसपास करीब एक लाख लोग स्टेशन व उसके आसपास मौजूद थे. रेलवे ने इज्तिमा के लिये आधा दर्जन स्पेशल ट्रेन भी चलाई हैं. लेकिन जन सैलाब को देखते हुये यह पर्याप्त नहीं थीं.

इज्तिमा कमेटी ने माना आभार

आल्मी इज्तिमा कमेटी भोपाल ने प्रदेश शासन, पुलिस प्रशासन, नगर निगम एवं विद्युत विभाग, रेलवे प्रशासन, एयर इंडिया के साथ ही इज्तिमा कमेटी के सभी वालेंटियरों का आभार व्यक्त किया है. ऑल इंडिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के सदर डॉ. औसाफ शाहमीरी खुर्रम ने बताया कि जमातें पैगंबर साहब द्वारा बताये गये नियमों का पालन करते हुये मुस्लिम परिवारों को दीन की दावत देंगी.

 

Related Posts: