sartaj-azizइस्लामाबाद. सरताज अजीज ने आज कहा कि कश्मीर मुद्दा वार्ता के एजेंडे में शामिल होने के बाद ही पाकिस्तान भारत के साथ औपचारिक बातचीत करेगा. श्री अजीज ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि पाकिस्तान और भारत के बीच तब तक औपचारिक बातचीत नहीं होगी, जब तक कश्मीर को एजेंडे में शामिल नहीं किया जायेगा.श्री शरीफ और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच हाल में रूस के ऊफा में हुई बातचीत का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि श्री शरीफ ने सभी मुद्दों पर चिंता जताई है.

उन्होंने कहा कि ऊफा में हुई बातचीत में श्री शरीफ ने पाकिस्तान के आंतरिक मामलों में भारत के कथित दखल पर भी चिंता जताई. उन्होंने कहा कि श्री शरीफ और श्री मोदी के बीच रूस में हुई बातचीत किसी वार्ता प्रक्रिया की कोई औपचारिक शुरूआत नहीं है. इस बातचीत का उद्देश्य दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव कम करने के लिए एक बेहतर समझ बनाना था.

श्री अजीज ने कहा कि प्रधानमंत्री की श्री मोदी के साथ बैठक से संबंधों को मजबूत करने में मदद मिलेगी. उन्होंने बताया कि ऊफा में हुई दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच हुई बैठक में इस बात पर सहमति बनी कि दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की पहली बैठक नयी दिल्ली में होगी और इसके बाद इस्लामाबाद में होगी.