लखनऊ,  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जूनियर फुटबाल विश्वकप 2017 के दृष्टिगत प्रदेश के चिन्हित 32 जिलों में फुटबाल एवं अन्य खेलों को बढ़ावा देने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कल रात यहां खेल विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने जूनियर फुटबाल विश्वकप के दृष्टिगत प्रदेश के चिन्हित 32 जिलों में फुटबाल खेल को बढ़ावा देने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने श्रमिकों के बच्चों में खेलों के प्रति रुझान पैदा करने एवं प्रोत्साहित करने के लिए कानपुर एवं वाराणसी में खेल कालेजों की स्थापना के लिए व्यापक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं।

इन खेल कालेजों की स्थापना से श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ खेलों में भी भाग लेने की रुचि पैदा होगी। उन्होंने कहा कि युवाओं को स्वस्थ रहने के लिए शारीरिक शिक्षा के साथ-साथ योग शिक्षा को भी जोड़ने के लिए कार्य योजना बनायी जाए। प्रदेश के 06 वर्ष से 18 वर्ष आयु के सभी बालक-बालिकाओं को उनकी रुचि के अनुसार किसी न किसी खेल से जोड़ने के लिए विद्यालयों में खेल कक्षाओं को बढ़ाया जाए।

श्री योगी ने कहा कि लखनऊ में सरकारी एवं निजी भागीदारी से आधुनिक सुविधाओं से लैस स्पोर्ट् स विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए व्यापक कार्य योजना यथाशीघ्र तैयार की जाए। ग्रामीण बच्चों को खेलों में प्रति प्रोत्साहित करने के लिए कबड्डी, कुश्ती, वाॅलीबाल, फुटबाल सहित अन्य खेलों में प्रशिक्षण दिलाए जाने के साथ-साथ ब्लाॅक स्तर पर खेल प्रतियोगितायें आयोजित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सैफई स्पोर्ट् स काॅलेज का नाम मेजर ध्यान चन्द्र स्पोर्ट् स कालेज किए जाने के लिए के भी निर्देश दिए। उन्होंने आवासीय क्रीड़ा छात्रावासों में प्रशिक्षणार्थी खिलाड़ियो को उपलब्ध कराए जा रहे निःशुल्क भोजन की शुद्धता एवं पौष्टिकता पर विशेष ध्यान रखने पर बल दिया।

Related Posts: