yoga3योग पर आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि योग जीवन को जी भरकर जीने की जड़ी-बूटी है। अगर इसे बिकने वाला माल या ‘बपौती’ बनाया तो सबसे ज्यादा नुकसान योग का ही होगा। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राजपथ पर लगभग 37 हजार लोगों के साथ योग करने के बाद मोदी ने विज्ञान भवन में योग के महत्व पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘दुनिया में कोई इंसान ऐसा नहीं है जो जी भरकर या भरपूर जीवन जीना नहीं चाहता हो और योग जीवन को जी भरकर जीने की जड़ी-बूटी है।

Related Posts: