rafalनई दिल्ली,  फ्रांस ने भारत के लिए अपने युद्धक विमान रफाल की कीमत थोड़ी घटा दी है. भारत कीमत में और कटौती की मांग कर रहा है, जिसकी वजह से इस डील को होने में कम-से-कम छह हफ्ते का समय और लग सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, लागत बढऩे और डॉलर की दर को ध्यान में रखते हुए यूपीए सरकार के समय के टेंडर अनुसार 36 रफाल विमानों के लिए भारत को मौजूदा समय में 66 हजार करोड़ रुपये (करीब 9 अरब यूरो) चुकाने पड़ेंगे. हालांकि, भारत की ओर से युद्धक विमान में जिन बदलावों की मांग की गई है उनकी लागत भी इसी में शामिल है.

सरकार प्रयास कर रही है कि इसकी कीमत आठ अरब यूरो (करीब 59 हजार करोड़ रुपये) के करीब लाया जाए. सूत्र ने यह भी बताया कि दाम को लेकर बातचीत 21 जनवरी से ही शुरू हुई है. उन्होंने कहा कि यूपीए के टेंडर की मूल कीमत से वे नीचे आए हैं, लेकिन हम थोड़ा ज्यादा की उम्मीद कर रहे हैं.

Related Posts:

राष्ट्रपति ने युद्धपोत पर सवार हो रचा इतिहास
'सीएसटी में कमी की भरपाई होनी चाहिए'
नया काम करने से पहले 'आपसी सहमति'
सवा चार लाख किसानों को 515 करोड़ शीघ्र वितरित होंगे
असहिष्णुता के मुद्दे पर विवादित बयान देने वाले मंत्री हटाये जायें: विपक्ष
प्रियंका आएं तो कांग्रेस को उत्तर प्रदेश चुनाव में होगा फायदा : कमलनाथ