anupam kherनयी दिल्ली,   देश में बढ़ती असहिष्णुता को लेकर आवाज उठाने वालों के विरोध में मार्च का नेतृत्व करने वाले बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने आज कहा कि उनका राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है।

अपनी पत्नी किरण खेर की तरह राजनीति में आने के सवाल के जवाब पर अनुपम ने टि्वटर पर अपने प्रशंसकों के साथ चैट में कहा, च्च्मैं एक अभिनेता, शिक्षक और प्रेरक वक्ता के रूप में खुश हूं।ज्ज् असहिष्णुता के मुद्दे पर मार्च निकालने के बारे में उन्होंने कहा कि इसका राजनीति से कोई लेना देना नहीं है और प्रत्येक व्यक्ति को अभिव्यक्ति की आजादी है।

उन्होंने कहा, च्च्मेरी भारतीय विचारधारा है। व्यक्ति जो भी सोचता है उसके पास उसे अभिव्यक्त करने की आजादी है।ज्ज् अनुपम ने कहा कि यह अच्छा है कि देशभर में असहिष्णुता के मुद्दे पर बहस चल रही है। उन्होंने कहा, च्च्हां मुझे लगता है कि यह बहस लंबी चलेगी। शायद बहस करने का यह सही तरीका है।ज्ज्
असहिष्णुता के मुद्दे का करियर पर प्रभाव पड़ने के सवाल पर अनुपम ने कहा, च्च्मैंने कड़ी मेहनत और समर्पण से अपना करियर बनाया है। भगवान की मुझ पर कृपा रही। मुझे विश्वास है कि उनकी कृपा मुझ पर बनी रहेगी।ज्ज् उन्होंने कहा कि उनके पिता पंडित अमरनाथ उनके रोल मॉडल है।

यह पूछने पर कि क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बायोपिक में वह अभिनय करना चाहेंगे, उन्होंने कहा, च्च्मैं उसमें काम करना पसंद करुंगा लेकिन मुझे लगता है कि परेश रावल ज्यादा बेहतर करेंगे।ज्ज् सरकार द्वारा किसी पद की पेशकश को स्वीकार करने के सवाल पर उन्होंने कहा, च्च्अभी इस पड़ाव पर नहीं। मैं काफी सारी चीजों में व्यस्त हूं।ज्ज्

Related Posts: