pranabनई दिल्ली,  राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी मंगलवार से शुरू हो रहे राज्यपालों एवं उपराज्यपालों के 47वें सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे जिसमें आतंरिक एवं बाहरी सुरक्षा के साथ-साथ प्रमुख विकास कार्यक्रमों को गति देने के बारे में चर्चा होगी.

राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस दो दिवसीय सम्मेलन में 23 राज्यपाल और दो उपराज्यपाल हिस्सा लेंगे. सम्मेलन में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण, श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय, कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी, पूर्वोत्तर विकास मंत्री जीतेन्द्र सिंह, नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविन्द पनगढिय़ा और अजीत डोभाल भी भाग लेंगे. सम्मेलन में आतंकवाद एवं उग्रवाद के संदर्भ में आतंरिक एवं बाह्य सुरक्षा, कौशल विकास एवं रोजग़ार सृजन, स्वच्छ भारत अभियान, 2022 तक सबको आवास एवं स्मार्ट सिटी, उच्च शिक्षा की गुणवत्ता वृद्धि, मेक इन इंडिया को गति देना तथा पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास एवं एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर चर्चा होगी.