putinमास्को,   रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सीरिया से अपनी सेना हटाने की घोषणा की है और अपने राजनयिकों से कहा है कि पांच वर्ष के युद्ध को समाप्त करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में शुरू हुई शांति वार्ता को आगे बढ़ाने में मदद करें. पुतिन की घोषणा के बाद रूसी सैनिकों ने सीरिया से निकलना शुरू कर दिया है.

इस बीच सीरिया की सरकार ने रूस के साथ किसी प्रकार के मतभेद का खंडन किया है और कहा है कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ राष्ट्रपति बशर अल असद की टेलीफोन पर हुई वार्ता में रूसी सैनिकों की संख्या घटाने पर सहमति हुई है. पश्चिमी राजनयिकों का कहना है कि हो सकता है व्लादिमीर पुतिन राष्ट्रपति असद पर युद्ध को समाप्त करने के लिए राजनीतिक समझौता स्वीकार करने का दबाव बना रहे हो. असद विरोधी सीरियाई विपक्ष ने रूसी सैनिकों की सीरिया से वापसी को सकारात्मक कदम बताया है. सीरिया में पिछले वर्ष सितंबर में रूस के हस्तक्षेप से सीरिया की लड़ाई का रूख बदल गया था और वह राष्ट्रपति असद के पक्ष में हो गया था. असद के सैनिकों ने पश्चिमी सीरिया के कुछ भूभाग पर कब्जा किया था. श्री पुतिन ने अपने सैनिकों की घोषणा अचानक की है किन्तु उन्होंने सैनिकों की वापसी की कोई समय सीमा नहीं निर्धारित की है.

श्री पुतिन तथा अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सोमवार को बात की थी और क्रेमलिन के अनुसार दोनों नेताओं ने राजनीतिक समझौतों का प्रयास बढ़ाने पर सहमित जतायी थी.

Related Posts: