asamगुवाहाटी,  असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने शनिवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से तुरंत कार्रवाई करते हुए असम के राज्यपाल के पद से पद्मनाभा बालकृष्ण आचार्य को हटाने का अनुरोध किया।

भाजपा खुलकर आचार्य के समर्थन में सामने आई और कहा कि उन्हें हटाने की कोई संभावना नहीं है। गोगोई ने राष्ट्रपति को शनिवार को पत्र भेजकर आचार्य की जगह किसी और को असम का राज्यपाल बनाने की गुहार लगाई। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि आचार्य के पद पर बने रहने से संसदीय जनतंत्र के संचालन में दिक्कत आएगी और राज्य के धर्मनिरपेक्ष संस्कारों में दरार पैदा होगी। आचार्य ने कहा था कि दुनिया में कहीं भी प्रताड़ित हिंदुओं को हिन्दुस्तान आने का हक है क्योंकि च्हिन्दुस्तान हिंदुओं का है।ज् वे यहां नहीं आएंगे तो कहां जाएंगे।

पत्र में डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय कोर्ट में आचार्य द्वारा चार सदस्यों की नियुक्ति और बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल में राज्य मंत्रिमंडल द्वारा सुझाए गए नामों के बजाए अपनी पसंद के कुछ लोगों की नियुक्ति पर सवाल उठाए गए हैं। भाजपा नेता राम माधव ने कहा कि आचार्य को हटाने का सवाल नहीं उठता।

Related Posts: