गोल्ड कोस्ट,

भारतीय ओलंपिक संघ(आईओए) को राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने गये भारतीय एथलेटिक्स दल के रिहायशी अपार्टमेंट में कमरों के बाहर इंजेक्शन मिलने के मामले में अब राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) के मेडिकल आयोग के सामने पेश होने के आदेश दिये गये हैं।

आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट शहर में चार से 15 अप्रैल तक आयोजित होने वाले 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने गये भारतीय दल के कमरों के बाहर इंजेक्शन सीरींज मिलने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है और इसे डोपिंग से जोड़कर देखा जा रहा है।राष्ट्रमंडल खेलों में इंजेक्शन के उपयोग पर सख्ती से प्रतिबंध है और आयोजक इसे नियम उल्लंघन मान रहे हैं।

सीजीएफ के मुख्य कार्यकारी डेविड ग्रेवेमबर्ग ने इसकी पुष्टि करते हुये बताया कि खेलों में सीरींज के उपयोग को लेकर सख्त नियम कानून का उल्लंघन हुआ है।खेल गांव में भारतीय मुक्केबाज़ों के कमरे के बाहर कुछ सूईयां मिली थीं।उन्होंने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा“ सीजीएफ ने सभी संबंधित पक्षों और राष्ट्रमंडल खेल संघों(सीजीए) को हमारे मेडिकल आयोग के साथ बैठक के लिये कहा है।”

ग्रेवेमबर्ग ने कहा“ इस मामले में पूरी प्रक्रिया के बाद जो भी जानकारी मिलेगी मैं उसे मीडिया के सामने रखूंगा।हम इस जांच प्रक्रिया में संबंधित पक्षों के बयान भी लेंगे और इसे आगे फेडरेशन की अदालत में पेश किया जाएगा।”

Related Posts: