RAHULइलाहाबाद,  जेएनयू में छात्रों से मुलाकात मामले में राहुल गांधी पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया.
राहुल जेएनयू छात्रों का समर्थन करने कैंपस पहुंचे थे. उन्होंने कहा था कि वह देशविरोधी नारों का समर्थन नहीं करते, लेकिन अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन करते है. कांग्रेस उपाध्यक्ष के खिलाफ इलाहाबाद के सीजेएम कोर्ट में अर्जी दाखिल की गई थी. इस अर्जी में राहुल पर जेएनयू में देशविरोधी नारा लगाने के आरोपियों के समर्थन करने का आरोप लगाया गया है.

छात्रों के समर्थन में जेएनयू कैंपस में राहुल ने जोरदार भाषण दिया था. उन्होंने कहा था, छात्रों की आवाज दबाने की कोशिश करने वाले देशद्रोही हैं. वहीं जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी पर राहुल ने कहा कि एक नौजवान ने अपनी बात रखी और सरकार उसे राष्ट्र विरोधी करार दे रही है.
राहुल गांधी के इस कदम की बीजेपी नेताओं ने जोरदार आलोचना की. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि राहुल गांधी को अपने बयान के बाद सोचना चाहिए कि वह देश के साथ हैं या देशद्रोहियों के समर्थन में.

Related Posts: