नयी दिल्ली,

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ परिवार पर पर तीखा हमला करते हुए आज कहा कि श्री मोदी ने देश के संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजाेर करके तथा देश को जाति धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश करके भारत की धर्मनिरपेक्ष एवं सहिष्णु छवि को विदेशाें में जबर्दस्त चोट पहुंचायी है और कांग्रेस की विचारधारा में ही यह ताकत है कि वह संविधान ,संवैधानिक संस्थाओं ,दलितों ,अल्पसंख्यकों ,महिलाओं समेत समाज के हर तबके की रक्षा कर सकती है।

श्री गांधी ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में यहां तालकटोरा स्टेडियम में एक वर्ष तक चलने वाले देशव्यापी ‘संविधान बचाओ अभियान’ की शुरूआत करते हुए अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस ने 70 वर्ष के शासन में देश को संविधान दिया और चुनाव आयोग,लोकसभा,राज्यसभा,विधानसभाएं तथा आईआईटी और आईआईएम जैसी संस्थाएं दीं और सबका सम्मान एवं रक्षा की लेकिन आज हर संस्था में आरएसएस की विचारधारा के लोगों को भरा जा जा रहा है। देश के इतिहास मे पहली बार उच्चतम न्यायालय के चार जजाें ने जनता के समक्ष आकर न्याय मांगा जबकि आम तौर पर जनता ही न्याय के लिए अदालतों के पास जाती है।

ऐसा पहली बार हुआ है जब सरकार ने ही संसद को चलने नहीं दिया1 मोदीजी संसद में खड़े होने से घबराते हैं क्योंकि उन्हें देश के समक्ष मौजूद मुद्दों पर जवाब देना होगा लेकिन देशवासी हर बात समझ चुके है।