लोगों को धोखाधड़ी से बचाने जागरुकता अभियान

नई दिल्ली,

रिजर्व बैंक ने बैंक खातों में होने वाली धोखाधड़ी की घटनाओं के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्रूस् अभियान तथा मिस्ड कॉल हेल्पलाइन की शुरुआत की है.

केंद्रीय बैंक द्वारा लोगों को भेजे जा रहे स्रूस् में कहा जा रहा है, बड़ी धनराशि मिलने के नाम पर किसी तरह का भुगतान न करें. रिजर्व बैंक या इसके गवर्नर या फिर सरकार की ओर से कभी भी इस तरह के ई-मेल, संदेश या कॉल नहीं की जाती.

बैंक ने विस्तृत जानकारी और मदद के लिए मिस्ड कॉल हेल्पलाइन 8691960000 की शुरुआत की है. इस नंबर पर मिस्ड कॉल किए जाने के बाद उपभोक्ता को वापस कॉल आता है, जिसमें इस तरह की गतिविधियों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी जाती है. इस कॉल में साइबर सेल एवं स्थानीय पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने संबंधी जानकारियां भी दी जाती हैं.

उल्लेखनीय है कि हाल में ईमेल, संदेश या कॉल के जरिए लोगों को रिजर्व बैंक से पुरस्कार मिलने या लॉटरी लगने जैसे प्रलोभन दिए जाने की घटनाएं बढ़ी हैं. इस तरह की घटनाओं में ठग प्रलोभन देते हैं और लॉटरी या पुरस्कार का पैसा जारी करने के लिए शुल्क की मांग करते हैं.

कुछ लोग इनके जाल में फंस जाते हैं और उन्हें पैसा गंवाना पड़ता है. उम्मीद जताई जा रही है कि क्रक्चढ्ढ के इस कदम से धोखाधड़ी को लेकर लोगों को सतर्क किया जा सकेगा.

Related Posts:

माइक्रोमैक्स दुनिया के शीर्ष 10 हैंडसेट वेंडरों में शामिल
एसबीआई का ई-वॉलेट लॉन्च
माल्या जैसे मामलों से बैंकिंग सेक्टर की बदनामी : जेटली
शनिवार और रविवार को भी चेक क्लियरेंस और एनईएफटी की सुविधा
वित्तीय समाधान और जमा बीमा विधेयक जमाकर्ताओं के हित में : सरकार
सरकारी बैंकों का सशक्तीकरण, इंफ्रा और हाउसिंग अगले वर्ष के प्रमुख एजेंडा : जेटली