modiनई दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूसी दौरे की शुरुआत में ही असहज स्थिति का सामना करना पड़ा. मॉस्को पहुंचने पर पीएम को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जा रहा था.

शुरुआती सल्यूट के बाद जैसे ही अगवानी करने आए अधिकारी ने आगे बढऩे का इशारा किया, नरेंद्र मोदी चलने लगे. ठीक उसी वक्त जन गण मन बजने लगा. रूसी अधिकारी तो जगह पर रुक गए लेकिन मोदी चलते रहे. वह कई कदम आगे निकल आए तब एक अन्य रूसी अधिकारी ने पीछे से आकर हाथ पकड़ कर उन्हें रोका और उन्हें सही स्थान पर लेकर गए.

प्रधानमंत्री दो दिन के दौरे पर मॉस्को पहुंचे हैं. इससे पहले पीएमओ ने ट्वीट कर रूस दौरे को ऐतिहासिक बताया. ट्वीट में लिखा, अभी-अभी मॉस्को पहुंचा हूं. इस दौरान कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेना है. यह छोटा लेकिन बेहद महत्वपूर्ण दौरा है. रूस दौरे से पहले भी प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर रूस को भारत का पुराना और घनिष्ठ दोस्त बताया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यात्रा पर रवाना होने से पहले कहा था कि वह रूस यात्रा को लेकर बहुत आशावान हैं, जहां उनकी मुलाकात और बातचीत रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से होनी है.

मोदी ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, मैं आज से अपनी रूस यात्रा शुरू करने जा रहा हूं. सरकार (हृष्ठ्र सरकार) बनने के बाद से यह रूस के साथ मेरी पहली द्विपक्षीय यात्रा है. मैं इस यात्रा से सामने आने वाले परिणामों को लेकर बहुत आशान्वित हूं. मोदी का रूस दौरा बुधवार से शुरू हो रहा है, जहां वह 16वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे, जिस दौरान कई द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है.

Related Posts: