pistolभिण्ड,  रॉयल्टी बगैर रेत परिवहन कर रहे एक ट्रेक्टर को पकडऩे पर हुए विवाद में आरोपियों द्वारा मायनिंग अधिकारी से मारपीट कर दी गई। जिसके बाद घटना की जानकारी होने पर वारदात को अंजाम देने वालों को गिरफ्तार करने गए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा के ऊपर पर आरोपियों द्वारा गोली चलाते हुए हमला कर दिया, जिसमें वह बाल बाल बच गए।

गुरुवार के रोज जिला खनिज अधिकारी जेएस भिड़े द्वारा भारौली तिराहे पर रेत से भरे ट्रेक्टरों की धरपकड़ को अंजाम दिया गया। इस दौरान रेत से भरे एक ट्रेक्टर को पकडऩे पर वाहन स्वामी रक्के सिंह भदौरिया सहित अन्य के साथ विवाद हो गया, जिस पर आरोपियों ने एक राय होकर मायनिंग टीम के साथ अभद्रता करते हुए वाहन छुड़ा कर भाग गए। इस विवाद की जानकारी खनिज अधिकारी द्वारा तुरंत पुलिस को दी गई, इस आधार पर पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए सीता नगर स्थित उनके निवास पहुंची।

यहां पहले से ही सतर्क बैठे आरोपी रक्के भदौरिया के परिजनों द्वारा पुलिस के साथ झूमा झटकी शुरु कर दी। तभी अचानक से मामला गर्म होने पर आरोपी सहित उसके परिजनों द्वारा विवाद बढऩे पर गोलीबारी शुरु कर दी। सरेआम हुई इस गोलीबारी में मौके पर मौजूद पुलिसकमिर्कयों द्वारा जबावी कार्यवाही की। घटना के बाद पुलिस ने आरोपी लालजी सिंह व रक्के भदौरिया को गिरफ्तार करते हुए कुल पांच लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया।

पुलिस ने बताया कि आरोपीगणों द्वारा लंबे अरसे से रेत का अवैध व्यापार किया जा रहा था। जिस पर कार्रवाई करने से बौखला कर टीम के साथ से मारपीट कर दी। ज्ञात हो कि आरोपीगण पूर्व में भी कई आपराधिक वारदातों को अंजाम दे चुका है, जो फिलहाल मारपीट व धमकी देने के मामलों में फरार चल रहा था।

अमृत मीणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भिण्ड ने बताया कि रेत का ट्रेक्टर पकडऩे पर आरोपी रक्के व लालजी सिंह ने खनिज अधिकारी से मारपीट कर दी, जिसे गिरफ्तार करने गई पुलिस पार्टी पर भी आरोपियों ने गोली चलाई। इस अपराध में आरोपी पिता पुत्र को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Related Posts: