arudhantiमुंबई. भारतीय रिजर्व बैंक के रेपो दर में कटौती करने के फैसले भारतीय स्टेट बैंक की चेयरमेन अरुंधति भट्टाचार्य ने स्वागत किया है दरों में कटौती के लिए ये सही समय था। आगे लिक्विडिटी बढऩे से दरों में कटौती करना आसान होगा, लेकिन सिर्फ दरों में कटौती से ग्रोथ में सुधार नहीं आएगा। महंगाई घटने और रेपो रेट कम होने से बैंक ब्याज दरों में कटौती कर सकते हैं। निकट भविष्य में वृद्धि और अधिक रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

Related Posts: