prabhuनई दिल्ली, 25 फरवरी, नससे. रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु के पहले रेल बजट में यात्री किरायों में बढोतरी होने की संभावना कम है लेकिन उनमें शुल्कों में सुविधाओं से जोडऩे एवं दूरी के हिसाब से समायोजन कर राजस्व बढ़ाने की घोषणा की जा सकती है. माना जा रहा है कि बजट लोकलुभावन होने की बजाय भारतीय रेलवे की खराब व्यवस्था को बेहतर के लिये ठोस जमीनी उपायों पर जोर देने वाला होगा.बजट में नई गाडिय़ों को बढ़ाने की बजाय रेल मार्गों के उन्नयन पर जोर होगा. सूत्रों की माने तो परंपरा से अलग लगभग 40 नई गाडियों की ही घोषणा होगी.

Related Posts: