rail_budget2016नई दिल्ली, रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बजट में सुविधा, सुरक्षा व संचालन पर विशेष जोर देते हुए याी व माल भाड़ें कोई बढ़ोतरी नहीं की है. उन्होंने अपने बजट को आम नागरिकों के आकांक्षाओं का बजट बताते हुए कहा है कि यह बजट बदलाव की यात्रा का दस्तावेज है जो इस संस्था के पुनर्गठन, पुनर्निमाण और पुनरूद्धार का प्रतीक है. इसलिए उन्होंने नारा दिया कि चलो मिलकर कुछ नया करें.

प्रभु ने रेलवे के लिए अपना मिशन 2020 पेश किया. बजट में उन्होंने एक ओर जहां यात्रियों के सफर को आसान बनाया वहीं दूसरी ओर उनकी सुरक्षा भी सुनिश्चित की. उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य रेल को आर्थिक वद्धि का इंजन बनाना, रोजगार पैदा करना और उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं देना है.

उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे काम भी यात्रियों के जीवन में बदलाव लाते हैं. सोशल मीडिया के जरिए यात्रियों को सुविधाएं पहुंचाई जाएंगी. अभी यात्री सोशल मीडिया के जरिए जो शिकायत करते हैं उन पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने कहा कि 2020 तक आम आदमी की जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा.

उन्होंने कहा कि हमने बड़े पैमाने पर लंबित पड़े पुराने कार्यों को पूरा करने और भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए पूंजी व्यय को मजबूत बनाया है और पूंजी व्यय की दर बढायी है. प्रभु ने अपने लक्ष्य की घोशणा करते हुए कहा कि 2020 तक स्वर्णिम चतुर्भुज पर सेमी हाईस्पीड ट्रेनें चलाने, 2020 तक समय से गाड़ी चलाना और सभी को रिजर्वेशन जिस समय चाहें उस समय रिजर्वेशन की सुविधा मुहैया कराना, 2020 तक 95 प्रतिशत ट्रेने समय से चलाना एक अहम लक्ष्य है. प्रभु ने कहा कि हमारी कार्ययोजना के 3 स्तंभ हैं- नव-अर्जन, नव-मानक, नव-संरचना.

उन्होंने कहा कि आगामी वित्तीय वर्ष में शून्य आधारित बजट प्रक्रिया की अवधारणा अपनाएंगे. हमारा निवेश पिछले वर्ष के औसत का लगभग दोगुना होगा. वित्तीय वर्ष 2016-17 में पूंजीगत योजना के लिए 1.21 लाख करोड़ रुपये रखे गए हैं. उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत में कहा कि ये चुनौतियों का समय और सबसे कठिन दौर है जिसका हम सामना कर रहे हैं. हम शुल्क राजस्व के अतिरिक्त राजस्व के नये स्रोतों का दोहन करेंगे. प्रभु ने बजट में अशक्त लोगों, महिलाओं और वरिष्ठ लोगों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए कई घोषणाएं की.

उन्होंने बताया कि दिव्यांगों और वृद्धों के लिए सारथी सेवा षुरू की जाएगी. महिला सुरक्षा पर जोर देते हुए प्रभु ने कहा कि महिलाओं के लिए हेल्पलाइन नंबर होगा 182, सुरक्षा के लिहाज से बोगी के बीच में होगा महिलाओं का आरक्षण, 311 स्टेशनों में लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे, हर कैटेगरी में 30 फीसदी सीटें महिलाओं के लिए होगा, ट्रेन में सफर कर रही महिलाओं के छोटे बच्चों के लिए अलग से खाना उपलब्ध होगा. इसके अलावा उन्होंने वरिष्ठ लोगों के लिए हर ट्रेन में 120 सीटें आरक्षित रखने की घोषणा की.

साथ ही उन्होंने दिव्यांगों ,वरिष्ठ नागरिकों और महिलाओं के लिए चुनिंदा स्टेशनों के सभी प्लेटफार्मों पर पोर्टेबल जैव शौचालय मुहैया कराने की घोषणा की है. इसके अलावा रेल मित्र सेवा के तहत वद्धों व दिव्यांग यात्रियों की सहायता के लिए सारथी सेवा का विस्तार किया जाएगा. प्रभु ने समान्य यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के उदेश्य से भी कई घोषणाएं की है. इसके तहत जनरल बोगी में मोबाइल चार्जिंग की सुविधा, जनरल बोगी में भी अब पैसे देकर बिस्तर उपलब्ध कराया जा सकेगा.

सुरेश प्रभु ने चार नयी हाई स्पीड ट्रेन चलाने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि तेजस, हमसफर, उदय और अंत्योदय नाम से चार नयी गाडिय़ां चलायी जायेंगे. इन गाडिय़ों की विशेषता यह है कि यह पूरी तरह वातानुकूलित होगा और तेजस और हमसफर 130 किलीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी. हमसफर में सभी बोगी वातानुकूलित होगी और मांग के हिसाब से खाने की भी व्यवस्था होगी.

अंत्योदय एक्सप्रेस में सभी बोगी अनारक्षित होगी. इस ट्रेन को आम लोगों को ध्यान में रखकर चलाया जा रहा है. इसकी सारी बोगिया थर्ड एसी की होंगी. ‘उदयÓ ट्रेन की विशेषता यह होगी कि यह डबल डेकर होगा और इसका परिचालन रात में किया जायेगा.

रेल मंत्री ने तकनीक और मेक इन इंडिया का भी ख्याल रखा है. उन्होंने कहा कि 400 रेलवे स्टेशनों को वाई-फाई युक्त बनाया जाएगा और इस साल 100 स्टेशनों पर यह सुविधा होगी. 400 स्टेशनों का सार्वजनिक निजी भागीदारी के जरिए आधुनिकीकरण किया जाएगा. साथ ही वित्त वर्ष 2016-17 में रेलवे पूरी तरह से कागज मुक्त अनुबंध व्यवस्था को अपना लेगा.

Related Posts: