18seminarआईएसटीडी की दो दिवसीय वेस्टर्न रीजन कान्फे्रंस आरंभ, 

भोपाल,18 मार्च,नभासं. हमारा वर्तमान एजूकेशन सिस्टम डिग्रीधारी विद्यार्थी तो तैयार कर रहा है किंतु रोजगार पर तुरंत रखे जाने योग्य स्किल्ड मेनपॉवर तैयार नहीं कर पा रहा है.

स्किल्ड होने के लिए एजूकेशनली क्वालिफाइड होना जरूरी नहीं है. हमारे आसपास मौजूद प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन, लुहार, कुम्हार, चर्मकार, मैकेनिक जैसे तमाम छोटे-छोटे कामकाजी लोग भी स्किल्ड प्रोफेशनल्स की श्रेणी में रखे जाने चाहिए. उक्त आशय की बात होटल पलाश में आरंभ हुई दो दिवसीय स्किलिंग इंडिया मेक इन इंडिया विषय पर आयोजित कान्फ्रेंस के मुख्य अतिथि एवं प्रदेश के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने अपने उद्घाटन भाषण में कही. इस वेस्टर्न रीजन कान्फ्रेंस का आयोजन इण्डियन सोसायटी फॉर ट्रेनिंग एण्ड डेवलपमेंट (आईएसटीडी) के भोपाल चैप्टर द्वारा किया जा रहा है. इस अवसर पर आईएसटीडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रधानमंत्री स्किल डेवलपमेंट बोर्ड के सलाहकार एस.जे. अमलान आईएसटीडी भोपाल चैप्टर की अध्यक्षा रश्मिी भार्गव आईएसटीडी, नईदिल्ली के प्रमुख तरुण पंत तथा मध्यप्रदेश काउंसिल फॉर वोकेशनल एजूकेशन एण्ड ट्रेनिंग के सीईओ व डायरेक्टर सिबी चक्रवर्ती विशेष रूप से उपस्थित थे.

Related Posts: