spo1ब्रिसबेन,  इसे संयोग कहें या दुर्भाग्य, विश्व रिकार्डधारी बल्लेबाज रोहित शर्मा का लगातार दूसरा शतक भारत को जीत नहीं दिला सका. भारत ने रोहित (124) के शानदार शतक से मजबूत स्कोर बनाया लेकिन आस्ट्रेलिया ने भारत की खराब फील्डिंग और ढीली गेंदबाजी का फायदा उठाते हुये दूसरा वनडे आज सात विकेट से जीतकर पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली.

भारत रोहित के पर्थ में नाबाद 171 रन के बावजूद पहला वनडे पांच विकेट से हार गया था. दूसरे एकदिवसीय मैच में फिर यही कहानी दोहराई गई. भारत ने रोहित के 124 और अजिंक्या रहाणे के 89 तथा विराट कोहली के 59 रन की बदौलत 50 ओवर में आठ विकेट पर 308 रन का स्कोर बनाया. लेकिन भारतीय गेंदबाज एक बार फिर 300 से ऊपर के स्कोर का बचाव नहीं कर पाये.

आस्ट्रेलिया ने आरोन फिंच (71), शान मार्श (71), जार्ज बैली (नाबाद 76) और कप्तान स्टीवन स्मिथ (46) की बेहतरीन पारियों से 49 ओवर में तीन विकेट पर 309 रन बनाकर मैच को एकतरफा बना दिया. भारतीय क्षेत्ररक्षकों का प्रदर्शन काफी खराब रहा और मार्श को एक-दो नहीं बल्कि चार जीवनदान मिले.
रोहित शर्मा का शतक भारत को जीत तो नहीं दिला पाया लेकिन उन्हें मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला. टीम के दोनों प्रमुख स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा ने लगातार दूसरे मैच में निराश किया. तेज गेंदबाजों ने जरूर मेहनत की लेकिन फील्डरों के हाथों से फिसलते कैचों ने उनकी मेहनत पर पानी फेर दिया. टीम में वापसी करने वाले तेज गेंदबाज इशांत शर्मा 60 रन पर एक विकेट और उमेश यादव 74 रन पर एक विकेट ले पाये जबकि पिछले मैच में तीन विकेट लेने वाले बायें हाथ के तेज गेंदबाज बरिंदर शरण 51 रन पर कोई विकेट नहीं ले पाये.

जडेजा ने 50 रन पर एक विकेट लिया. स्टार आफ स्पिनर अश्विन विदेशी जमीन पर खराब प्रदर्शन का सिलसिला यहां भी नहीं तोड़ पाये और 10 ओवर में 60 रन लुटाकर कोई भी विकेट नहीं ले पाए. विराट कोहली ने भी एक ओवर डाला. आस्ट्रेलिया के चोटी के बल्लेबाजों ने लगातार दूसरे मैच में भारतीय गेंदबाजों की तबीयत से धुनाई की. भारतीय गेंदबाजों ने 11 वाइड सहित कुल 19 अतिरिक्त रन दिये जो अंत में निर्णायक साबित हुये.

फिंच और मार्श ने पहले विकेट के लिये 24.5 ओवर में 145 रन की बड़ी साझेदारी की जबकि स्मिथ और बैली ने तीसरे विकेट के लिये 78 रन की साझेदारी की. बैली ने इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल (नाबाद 26) के साथ चौथे विकेट के लिये 8.1 ओवर में 65 रन की अविजित साझेदारी की.

बैली एक बार फिर भारतीय गेंदबाजों के सामने अड़ गये और उन्होंने 58 गेंदों पर नाबाद 76 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया. फिंच ने 81 गेंदों पर 71 रन में सात चौके और एक छक्का, मार्श ने 84 गेंदों पर 71 रन में पांच चौके, स्मिथ ने 47 गेंदों पर 46 रन में चार चौके और मैक्सवेल ने 25 गेंदों पर नाबाद 26 रन में एक चौका लगाया. फिंच को जडेजा ने, मार्श को इशांत ने और स्मिथ को उमेश यादव ने आउट किया. पिछले चार महीनों में यह तीसरा मौका है जब रोहित के शतक के बावजूद भारत जीत नहीं पाया है. इस सीरीज से पहले अक्टूबर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कानपुर में खेले गये पहले वनडे में रोहित के 150 के बावजूद भारत पांच रन से हार गया था. गत वर्ष के शुरू में आस्ट्रेलिया में ही सीरीज के पहले वनडे में रोहित का शतक भारत को जीत नहीं दिला सका था.
रोहित की पारी बेहतरीन रही लेकिन आखिरी पांच ओवरों में भारतीय बल्लेबाज अपने स्कोर को 325-330 तक नहीं ले जा सके. जबरदस्त फार्म में चल रहे रोहित ने लगातार अपना दूसरा शतक बनाया और अर्धशतकधारी विराट कोहली तथा अजिंक्या रहाणे के साथ महत्वपूर्ण शतकीय साझेदारियां कर भारत को 308 तक पहुंचाया.

आस्ट्रेलिया के मैदान पर सर्वाधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गये रोहित ने दूसरे वनडे में भी अपनी लय कायम रखी और लगातार अपना दूसरा और वनडे करियर का 10वां शतक ठोका. रोहित ने 127 गेंदों में 124 रन की शतकीय पारी खेली और विराट (59 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 125 रन और अजिंक्या रहाणे (89) के साथ 121 रन की साझेदारियां की.
आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के सामने भारत से और बेहतर स्कोर की उम्मीद की जा रही थी लेकिन निचले क्रम के बल्लेबाजों ने निराश किया और टीम ने अपने आखिरी तीन विकेट छह रन के अंतर पर गंवा दिये. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 11 रन, मनीष पांडे छह रन, रवींद्र जडेजा पांच रन और रविचंद्रन अश्विन एक रन बनाकर आउट हुये.

Related Posts: