नयी दिल्ली,  केन्द्र सरकार ने ‘वीआईपी संस्कृति ’ को समाप्त करने के उद्देश्य से मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों की गाड़ियों पर लाल बत्ती लगाने की व्यवस्था को एक मई से समाप्त करने का निर्णय लिया है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंत्रिमंडल की बैठक में अपने इस फैसले की जानकारी दी।

बैठक के बाद सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि कोई मंत्री या वरिष्ठ अधिकारी लाल बत्ती का उपयोग नहीं कर सकेगा । आपातकालीन वाहनों एम्बुलेंस , पुलिस और अग्निशामक वाहनों पर नीली बत्ती का उपयोग किया जा सकेगा ।

ऐसा देखा गया है कि लाल बत्ती लगे वाहनों के गुजरने के पहले ही सुरक्षाकर्मी सड़कों पर आम लोगों की आवाजाही बंद कर देते हैं और उनके गुजरने के बाद ही आम लोगों को आने जाने की इजाजत दी जाती है । इसके कारण कई बार गंभीर रूप से बीमार लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है ।

Related Posts: