supreme_court_of_indiaनई दिल्ली, 13 अप्रैल. यदि एक अविवाहित जोड़ा पति-पत्नी की तरह साथ रह रहा है तो उन्हें कानूनी रूप से शादीशुदा ही माना जाएगा और पार्टनर की मौत की स्थिति में महिला उसकी संपाि की कानूनी हकदार होगी. सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने यह फैसला सुनाया है. जस्टिस एमवाई इकबाल और जस्टिस अमिताभ रॉय की खंडपीठ ने कहा कि लगातार साथ रह रहे कपल को शादीशुदा माना जाएगा और जरूरत पडऩे पर कानूनी रूप से अविवाहित साबित करने की जिमेदारी प्रतिवादी पक्ष की होगी. अदालत ने यह फैसला एक संपत्ति विवाद में दिया है जिसमें परिवार के सदस्यों ने अपने दादा की संपत्ति में उनके साथ बीस साल तक रहने वाली महिला को दावेदार मानने से इंकार कर दिया था।