RBIमुंबई, 4 मार्च. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अप्रत्याशित रूप से मुख्य नीतिगत दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर दी है। रिजर्व बैंक ने यह कटौती इस उम्मीद के साथ की है कि आने वाले कारोबारी वर्ष में महंगाई दर में और नरमी आएगी।

वहीं केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा मुख्य नीतिगत दरों में बुधवार को की गई कटौती का स्वागत किया और कहा कि यह वित्तीय घाटा कम करने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर भरोसे की मुहर है और इससे आम आदमी के लिए ऋण लेना सस्ता हो जाएगा। आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन ने एक बयान जारी कर कहा है कि 2015-16 की पहली छमाही में महंगाई दर में और नरमी आ सकती है और दूसरी छमाही में यह थोड़ी मजबूत हो कर छह फीसदी से नीचे रहेगी। राजन ने ये भी कहा कि क्षमता के कम उपयोग और उत्पादन के कमजोर संकेतक तथा ऋण में कमी को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक के लिए अपने नीतिगत कार्रवाइयों में यह उपयुक्त है कि मौद्रिक सामंजस्य के लिए उपलब्ध गुंजाइश का उपयोग किया जाए।

Related Posts: