nazma1भोपाल,   केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री डॉ नजमा हेपतुल्ला ने आज कहा कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों से अतिक्रमण हटाने के लिए अल्पसंख्यक समाज के लोगों को ही आना चाहिए और जरूरत पडे तो उन्हें इसके लिए आंदोलन भी करना चाहिए.

एक दिवसीय दौरे पर यहां आयीं डॉ हेपतुल्ला ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान सवालों के जवाब में कहा कि यदि जरूरत पडी तो वह भी आंदोलन में शामिल होंगी. लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि वह अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रही हैं. दरअसल वक्फ की संपत्तियों पर देश में कई जगह वर्षों से कब्जा है. और यह आंदोलन कब्जाधारियों के कब्जे से जमीन को मुक्त कराने के लिए होगा। उन्होंने कहा कि हालाकि अधिकांश मामलों में कब्जाधारी’अपनेÓही लोग अर्थात वक्फ बोर्ड से जुडे हैं। यदि इस जमीन को मुक्त कराके इसका व्यावसायिक दोहन किया जाए तो इससे बारह हजार करोड रूपयों का आय होगी जिसका इस्तेमाल अल्पसंख्यक वर्ग के कल्याण के लिए किया जा सकता है.

Related Posts: