जबलपुर,  मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर में वरमाला के बाद अचानक दूल्हे की दहेज की मांग से बिफरी एक दुल्हन शादी का मंडप छोडकर सीधे थाने पहुंच गई।

दुल्हन की शिकायत पर फौरन कार्रवाई करते हुए पुलिस लालची दूल्हे को पकड लाई। दूल्हे के रात भर थाने में रहने के बाद आज सुबह दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया।

गौर चौकी प्रभारी मो. समीर ने बताया कि लखनादौन निवासी पेशे से मैकेनिक लक्ष्मी यादव का विवाह बरेला पिंडरई निवासी अंकिता यादव से तय हुआ था। मंगलवार रात लखनादौन से बारात आई। वरमाला के बाद जब चढ़ावा कार्यक्रम शुरू हुआ तो दूल्हे ने एक मोटर साइकिल, पांच एकड़ जमीन और 51 हजार रुपये मिलने पर ही फेरे लेने की बात कही। इतना सुनते ही अवाक वधू पक्ष ने लगुन में 51 हजार रुपए दिए जा चुके होने की बात कहते हुए कहा कि इससे ज्यादा वे नहीं दे सकते। इस पर दोनों के बीच विवाद बढ गया।

वधू पक्ष ने जब वर पक्ष से जेवर दिखाने कहा तो पता चला कि सभी जेवर नकली हैं और उनमें मंगलसूत्र है ही नहीं। इसके बाद दुल्हन ने शादी तोड़ते हुए गौर चौकी में दूल्हे की शिकायत कर दी।

पुलिस के अनुसार दोनों पक्षों में आज सुबह सुलह हो गई। वहीं दुल्हन ने भी अपनी शिकायत वापस ले ली।

Related Posts:

जागरूकता, एकता और निरंतरता ही हैं लक्ष्य-प्राप्ति के मूल मंत्र
भारत इस्लामिक राष्ट्र नहीं : विजयवर्गीय
कांग्रेसियों ने बेची 10 रुपये किलो प्याज, 60 रुपये किलो तुअर दाल
मंत्रिमंडल विस्तार, इंतजार की घडिय़ां खत्म: मुख्यमंत्री
अल्लाह के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने सात हजार किमी की पैदल हज यात्रा
बसंत प्रताप सिंह होंगे मध्यप्रदेश के नए मुख्य सचिव