vadraनई दिल्ली,   कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा एक बार फिर विवादों के केन्द्र में हैं। मीडिया रिपोर्टों में उन पर हथियारों के एक डीलर से लंदन में एक बेनामी फ्लैट बतौर उपहार लेने का आरोप लगाया गया है।

टीवी चैनल एनडीटीवी के अनुसार वित्त मंत्रालय इन आरोपों की जांच कर रहा है कि वाड्रा को वर्ष 2009 में फ्लैट उपहार के तौर पर दिया गया था। हालांकि कांग्रेस ने इन रिपोर्टों को खारिज किया है। कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां कहा कि वाड्रा ने एक ईमेल के जरिये पार्टी को सूचित किया है कि लंदन में एक बेनामी फ्लैट लेने के आरोप आधारहीन है।

वाड्रा के वकील ने भी अपने मुवक्किल के खिलाफ आरोपों से इंकार किया है। एनडीटीवी की रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रालय जांच एजेंसियों की एक रिपोर्ट के आधार पर जांच कर रहा है।

रिपोर्ट में वाड्रा और उनके कार्यकारी सहायक मनोज सिन्हा के साथ रक्षा डीलर संजय भंडारी द्वारा भेजे गये ईमेल का जिक्र है।

रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि वाड्रा और अरोड़ा ने भंडारी के एक रिश्तेदार सुमित चड्डा को अक्टूबर 2009 में खरीदे गये लंदन के 12 एलर्टन हाउस की मरम्मत के लिए खर्च की अदायगी के संबंध में कई ईमेल भेजे गये।