planeनई दिल्ली,  भारत की वायु सेना को एक नया दिव्य हथियार मिल गया है.
नहीं! न तो यह कोई सुपरसोनिक मिसाइल है और न ही फाइटर जेट्स के विध्वंसक बम यह एक अनोखी दवा है, जिसका नाम गो/नो गो रखा गया है.
बताया जा रहा है कि इनकी क्षमता जबरदस्त है और पिछले कुछ वक्त से वायु सेना के पायलट्स इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं. इसकी मदद से पायलट्स बिना सोए विषम परिस्थितियों में भी दिन-रात विमान उड़ा सकते हैं. इतना ही नहीं, नींद न आने की परेशानी से जूझ रहे पायलट्स को भी इससे काफी फायदा मिल रहा है. दरअसल, इन गो पिल्स मोडाफिनिल है, जिसका इस्तेमाल दुनियाभर की वायु सेनाओं में किया जा रहा है.

इसकी मदद से किसी भी सैनिक के अलर्टनेस लेवल को काफी हद तक बढ़ाया जा सकता है. इतना ही नहीं, दवा खाने वाले की थकान सहने की क्षमता भी काफी बढ़ जाती है. इसके उलट, नो गो पिल्स जोल्पिडैम होती है, जिसका इस्तेमाल अनिद्रा से निपटने के लिए किया जाता है.

 

Related Posts:

ठंड के साथ कोहरा भी शबाब पर
सबरीमाला मामले में याचिका वापस लेने की अनुमति देने से इन्कार
छत्तीसगढ़ में 3 साल में 543 एनकाउंटर, 128 नक्सली मारे,100 पुलिसकर्मी शहीद, 852 न...
राष्ट्रपति का आदेश कोई राजाज्ञा नहीं, जो रद्द न की जा सके : उत्तराखंड हाईकोर्ट
प्रधानमंत्री के चुनावी भाषण पर पाबंदी नहीं : जेटली
केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा को आदर्श चुनाव आचार संहिता उल्लंघन मामले में म...