नवभारत न्यूज ग्वालियर,

अदभुत, वाह , उक्त शब्द आज हरियाणा के महामहिम राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी के श्री मुख से वरवस निकल पडे, जब वह शासकीय फाईन आर्टस कालेज में लगी रंग संभावना प्रदर्शनी का अवलोकन कर रहे थे।

राज्यपाल प्रो. सोलंकी ने फाइन आर्टस कालेज में छात्र-छात्राओं द्वारा बनाई गई पेंटिंग व कलाकृतियों को सराहा, वहीं पत्थर, लकडी व बेस्ट मटेरियल से बनी कलाकृतियों को निहारा भी।

राज्यपाल ने कालेज परिसर में लगभग ३५ मिनट का समय दिया। पूर्व में राज्यपाल प्रो. सोलंकी का स्वागत कालेज की जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष विनय अग्रवाल, निदेशक मधुसूदन शर्मा, प्राचार्य कमलेश ओहदकर, ओमेन्द्र वर्मा, केदार सिंह, मनीष चंदेरिया, कु.रंजना तोमर, अनूप शिवहरे, मनोज जुगलेस , गिर्राज शर्मा, अजय मिश्रा, अनिल शिवहरे, डॉ. प्रवीण मित्तल, प्रदीप गर्ग, भाजयुमो के जिला महामंत्री निर्दोष शर्मा, आलोक भदौरिया, अंकित गुप्ता, विनोद तिवारी आदि ने किया।

राज्यपाल डॉ. सोलंकी ने तानसेन समारोह के तहत लगी रंग संभावना प्रदर्शनी की हर कलाकृति को बारीकी से देखकर समझा व सराहा भी। उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं व कलाकारों से बात भी की, और समूह फोटो भी कराया।

उन्होंने कालेज की विजीटर बुक पर भी हस्ताक्षर किये और अपना संदेश लिखा। राज्यपाल प्रो. सोलंकी ने कहा कि फाईन आर्टस कालेज का एक अपना अलग मुकाम है, और यह आपने बरकरार रखा है, खुशी की बात है।इस मौके पर जनभागीदारी समिति अध्यक्ष विनय अग्रवाल , निदेशक मधुसूदन शर्मा ने राज्यपाल प्रो. सोलंकी को एक हाथ की बनी पेंटिंग भी भेंट की।

Related Posts: