shivraj_satnaसतना 20 मार्च. नभासं. जिले के ओला पीडि़त किसानों की स्थिति का आकलन करने स्वयं यहां पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विकास से ज्यादा उनकी नजर में किसान की जिन्दगी की कीमत है. किसानों को होने वाले दु:ख दर्द की हर कीमत भरपाई की जाएगी.

सीएम ने ये कहा
–  50 प्रतिशत से अधिक नुकसान होने पर 100 प्रतिशत क्षतिपूर्ति देने का निर्णय
–  तीन एजेंसियों से एक साथ अलग-अलग सर्वे कराया जाएगा.
–  सर्वे रिपोर्ट को पंचायत भवन में चस्पा किया जाएगा
–  यदि किसी को आपत्ति होती है तो पुन: सर्वे भी कराया जाएगा.
–  सर्वे के काम में जनभागीदारी बढ़ाने पर जोर
–  विधायकों को भी इस काम में सहयोग करना चाहिए.

केंद्र लेगा जायजा 

कृषि मंत्रालय ने  भारी बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के निर्देश दिए हैं. कपास विकास निदेशक आरपी सिंह को महाराष्ट्र, दलहन विकास निदेशक ए.के. तिवारी को मप्र, गन्ना विकास निदेशक एम. सी. दिवाकर को उप्र, गेहूं विकास निदेशक नरेंद्र कुमार को हरियाणा, मिलेट्स विकास निदेशालय के ए. अंसारी को राजस्थान, संयुक्त निदेशक सुभाषचंद्र गुजरात व गेहूं विकास निदेशालय में सहा. निदेशक महेश कुमार को पंजाब में हुये नुकसान का आकलन करने को कहा है.

 

Related Posts: