24as25मंगलवार को राज्य विधानसभा में प्रतिपक्ष कांग्रेस के सदस्यों ने राज्यपाल रामनरेश यादव के अभिभाषण पर हुई चर्चा का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जवाब पूरा नहीं करने दिया. कांग्रेस के अधिकांश सदस्य एक साथ अपने स्थानों पर खड़े होकर केवल ये जानना चाह रहे थे कि राज्यपाल के खिलाफ क्या एसटीएफ ने एफआईआर दर्ज की है या नहीं इस मामले पर सदन में काफी देर तक शोरगुल होता रहा. तब हंगामे के बीच ही सदन की कार्यवाही को बुधवार सबेरे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

इस बीच सदन में मुख्यमंत्री ने कई बार ये कहा कि वे प्रतिपक्ष के सदस्यों के एक-एक आरोप और सवाल का जबाव देने को तैयार हैं. लेकिन उनका पक्ष प्रतिपक्ष सुने जरूर इस बीच अध्यक्ष सीताशरण शर्मा ने भी आसंदी से कई बार हंगामे व शोरगुल के बीच सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष दोनों को शान्त करने का प्रयास किया लेकिन कांग्रेस के सदस्य राज्यपाल के विरूद्व एफआईआर के बारे में सही स्थिति स्पष्ट करने की मांग करते रहे. इसी बीच संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्वाइंट आफ आर्डर भी उठाया. जिस पर आसंदी ने कहा कि विधानसभा के पिछले कई सत्रों में ये देखने में आया है

Related Posts: