19kk12नेल्सन, 19 फरवरी. अनुभवी बल्लेबाज सीन विलियम्स की 76 रन की शानदार पारी से जिम्बाब्वे ने कुछ विषम पलों से गुजरने के बाद आज यहां संयुक्त अरब-अमीरात (यूएई) को चार विकेट से हराकर विश्व कप क्रिकेट में अपना खाता खोला.

दो कमजोर टीमों के बीच खेला गया यह मैच यूएई के जुझारूपन के कारण आखिर में रोमांचक बन गया. यूएई ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर सात विकेट पर 285 रन बनाये जो एकदिवसीय मैचों में उसका सर्वोच्च स्कोर है. इसके बाद जिम्बाब्वे ने 33वें ओवर तक आधी टीम गंवाने के बावजूद छह विकेट पर 286 रन बनाकर जीत दर्ज की और इस तरह से विश्व कप में अपना सबसे बड़ा लक्ष्य भी हासिल किया. विलियम्स ने अपने करियर का 18वां अर्धशतक जमाया. उनकी 65 गेंद की पारी तथा क्रेग इर्विन (32 गेंदों पर 42 रन) के साथ छठे विकेट के लिये 83 रन की साझेदारी ने मुख्य अंतर पैदा किया. इन दोनों के अलावा ब्रेंडन टेलर (47), सिकंदर रजा (46) और रेगिस चकाबवा (35) ने भी उपयोगी योगदान दिया जिससे जिम्बाब्वे 12 गेंद शेष रहते हुए लक्ष्य तक पहुंचने में सफल रहा. इससे पहले यूएई की तरफ से कृष्ण चंद्रन (34), खुर्रम खान (45) और स्वप्निल पाटिल (32) के अच्छी नींव रखने के बाद पाकिस्तान में जन्में अनवर ने 50 गेंदों पर 67 रन की अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली. जिम्बाब्वे की तरफ से मध्यम गति के गेंदबाज टेंडाई चतारा ने 42 रन देकर तीन विकेट लिये. यूएई तब ऐतिहासिक जीत की कोशिश कर रहा था जब जिम्बाब्वे को आखिरी 15 ओवरों में 109 रन की दरकार थी और उसकी आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी लेकिन विलियम्स और इर्विन ने उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया. विलियम्स और इर्विन ने गेंदबाजों पर हावी होने की रणनीति अपनायी. बायें हाथ के इन दोनों बल्लेबाजों ने 36 से 40 ओवर के बीच बल्लेबाजी पावरप्ले में 45 रन जुटाकर टीम पर से दबाव हटाया. इर्विन भले ही आउट हो गये लेकिन विलियम्स आखिर तक क्रीज पर टिके रहे और नाबाद होकर पवेलियन लौटे. उन्होंने मोहम्मद नवीद पर लगातार तीन चौके जड़कर मैच का जोरदार अंत किया.

 

Related Posts: